Windows 10 default Virtual Memory size ko kaise adjust kare

सवाल पूछें
सभी ऑपरेटिंग सिस्टम में virtual memory की जरूरत होती है. वर्चुअल मेमोरी , RAM और आपके हार्ड ड्राइव के एक हिस्से का कॉम्बिनेशन होता है। हार्ड ड्राइव के इस हिस्से में Swap file, Paging file या Pagefile शामिल होता है. जब भी रैम में जगह कम पड़ती है, विंडोज स्वैप फाइल में अस्थायी रूप से फाइलों को स्टोर कर देता है. बाद में जब जरूरत होती है तो उन फाइलों को वापस रैम में स्वैप कर देता है. वर्चुअल मेमोरी को कंप्यूटर की फिजिकल मेमोरी का एक विस्तार कहा जा सकता है.

Windows 10 में इस फाइल का नाम pagefil.sys (यूजर को ये फाइल नहीं दिखती) है. इसके डिफॉल्ट साइज़ को एडजस्ट करने या इसे डिसेबल करने के कई आसान तरीके हैं.


विंडो 10 में डिफॉल्ट वर्चुअल मेमोरी साइज कैसे बदलें

सबसे पहले Start > File Explorer को क्लिक करें. अब This PC को राइट-क्लिक करें, इसके बाद Properties > Advanced System Settings > Advanced > Performance. Click Settings को लेफ्ट क्लिक करें:


अब Performance Options विंडो में Virtual memory सेक्शन में जाइए और Change को क्लिक कीजिए:


विंडोज इस पेजिंग फाइल के साइज को डिफॉल्ट तरीके से मैनेज करता है. ऐसा होने के कारण, सबसे पहले आपको Automatically manage paging file size for all drives चेकबॉक्स को क्लियर करना होगा:


अब चूंकि ये ऑप्शन अनलॉक हो चुका है, आप अगले स्टेप पर जा सकते हैं.

पेजिंग फाइल को दूसरे पार्टीशन में भेजें

यदि आपके प्राइमरी पार्टीशन में जगह की कमी हो गई है तो आप इसे किसी दूसरी (उसी ड्राइव में) जगह भेज सकते हैं.

पेजिंग फाइल को कैसे डिसेबल करें

लिस्ट के लिए प्राइमरी पार्टीशन के सलेक्ट करें और No Paging file ऑप्शन चुनें, फिर Set को क्लिक करें:


पेजिंग फाइल को एनबेल करें

अब चूंकि फर्स्ट पार्टीशन में पेजिंग फाइल को डिसेबल कर दिया जा चुका है, अब उसे सलेक्ट करें जिसे आप इस्तेमाल करना चाहते हैं. इसके बाद या तो System managed size या Custom size में से किसी एक को चुनिए. .

System managed size की मदद से विंडो पेजिंग फाइल के साइज को डायनामिक तरीके से मैनेज करता है:


Custom size फाइल की साइज़ को सेट करने में आपकी मदद करता है. कस्टम साइज का विकल्प चुनना जरा मुश्किल है. आइडिया ये है कि Maximum size को लिमिट किया जाए ताकि पेजिंग फाइल बहुत बड़ी न हो जाए. हालांकि ये पार्टीशन साइज के आकार से सीमित किया जाता है:


एक सामान्य नियम के तौर पर पेजिंग फाइल का अधिकतम साइज इंस्टॉल किए गए रैम के साइज का 1.5x होना जरूरी है. इसलिए 4 जीबी रैम पर चलने वाला पीसी के लिए, स्वैप फाइल का अधिकतम आकार 1024 x 4 x 1.5 Mb होगा.

सलाह

पेजिंग फाइल को डिसेबल कब करें? जब तक आप विंडो के हाइबरनेशन फीचर को इस्तेमाल करना नहीं चाहते, आप 8 जीबी (या इससे अधिक) वाले पीसी के लिए पेजिंग फाइल को सुरक्षित तरीके से डिसेबल कर सकते हैं.

वर्चुअल मेमोरी और एसएसडी? एसएसडी पर पेजिंग फाइल को बंद करना जरूरी है. फाइलों में जब लगातार राइटिंग/डिलीटिंग होती है तो इसका आपके एसएसडी के लाइफ-स्पैन (जीवन काल) पर निश्चित तौर पर बुरा असर होता है.

हर पार्टीशन के लिए पेजिंग फाइल? यदि आप एक से अधिक पार्टीशन के लिए सिंगल ड्राइव का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो ये जरूरी नहीं कि उनमें से हर एक पर अलग अलग पेजिंग फाइल एनेबल करने से स्वैपिंग फाइल की स्पीड बढ़ जाए. इससे विंडोज को स्वैप फाइलों (अलग अलग लोकेशन में रखी हुई) को सर्च करने में अधिक वक्त लगेगा.

Image: © Microsoft.

Dell Inspiron कंप्यूटर को Factory Settings पर Restore करें
FireFox में सभी वेबसाइटों के लिए डिफॉल्ट जूम लेवल सेट करें