BCC aur CC me difference

Gmail, Yahoo, Microsoft Outlook और Mozilla Thunderbird सहित अधिकांश ईमेल सेवा आपको इस बात की सुविधा देती है कि आप अपना एक मेल एक साथ कई सारे लोगों को भेज सकते हैं. आप ऐसा आराम से कर सकते हैं. इसके लिए आप CC की मदद ले सकते हैं. इसका मतलब रेसिपिएंट का "Carbon Copying" है. इसी प्रकार BCC का मतलब है "Blind carbon copying". CC का मतलब बस ग्रुप ईमेल भेजना है. जबकि बीसीसी उनकी पहचान छुपाती है जिन जिन लोगों को ग्रुप में ईमेल भेजा जाता है.


"To" फील्ड में रिसीव करने वाले का ईमेल डालें

आपके ईमेल रिसीव करने वाले एक या अधिक लोगों का मेल आईडी "To" फील्ड में डालें:



कुछ ईमेल क्लाइंट में ऐसा फीचर भी होता जिसमे उनका नाम लिखते ही उनका मेल आईडी अपने आप दिखने लगता है. बाद में वह बॉक्स में अपने आप भर भी जाता है.

अगर आप इस फील्ड से कई लोगों को मैसेज भेजते हैं तो उस मेल को रिसीव करने वाले सभी यूजर को अन्य यूजर का मेल आईडी और नाम की जानकारी अपने अपनी भी ही मिल जाएगी.

ईमेल में कैसे CC करें

CC या carbon copying की सहायता से आप कई लोगों को मेल भेज सकते हैं पर यह "To" फील्ड में नामा भरने की तुलना में ज्यादा इनडायरेक्ट है. अगर आप किसी मेल में किसी विशेष आदमी को सीधे मेल नहीं भेज रहें हैं पर उसको पूरे डिस्कशन या पूरी बात की जानकारी देना चाहते हैं तो "CC" फील्ड एक अच्छा ऑप्शन है. जिस किसी का नाम CC वाली फील्ड में लिखा गया है उसको उसी तरह मेल दिखता है जैसे "To" फील्ड ने नाम डालने पर दिखता है; बस अंतर इस बात का है कि यह मेल किसी और को एड्रेस किया जाता है. CC का यूज हमेशा प्रोफेशनल ईमेल में किया जाता है जिसका मुख्य यूज आपके ऑफिस के सहकर्मियों को किसी मेल में "लूप में रखने" के लिए किया जाता है.

आप ईमेल रेसिपिएंट को सीसी कर सकते हैं. इसके लिए बस आपको सारे ऐड्रेस की सूची को CC की फील्ड में डालना है. यह आमतौर पर To फील्ड के नीचे आपको मिलेगा. पूरे मेल चेन में सभी लोग एक CC किए गए दूसरे लोगों के मेल एड्रेस को देख सकते हैं:


ईमेल मेे BCC कैसे करें

सभी ईमेल क्लाइंट (Gmail, Outlook, Mozilla Thunderbird, Yahoo, आदि) आपको एक साथ कई सारे लोगों को बिना उनकी पहचान जाहिर किए मेल भेजने की सुविधा देता है. इसको को आम भाषा में BCC या ब्लाइंड कार्बन कॉपी करना कहते हैं. आप मैसेज रिसीव करने वालों की जानकारी को छिपाने के लिए To या CC फील्ड की जगह BCC में ईमेल एड्रेस लिखते हैं:


आप इस ऑप्शन का प्रयोग वन-टू-वन और ग्रुप ईमेल भेजने के लिए कर सकते हैं. यह तब बहुत काम आता है जब आप कोई मैसेज कई लोगों को भेजना चाहते हैं और उनकी पहचान भी बचा कर रखना चाहते हैं. यह उन लोगों को स्पैम और अनचाहे मेल से भी बचाता है.

BCC फील्ड सभी मेल क्लाइंट में ऊपर दिखे यह जरुरी नहीं है. उदहारण के लिए Outlook में आपको Options में जाकर करना होगा; Thunderbird में आपको ड्राप-डाउन मेन्यु; Gmail में आपको BCC बटन पर क्लिक करके; Windows Live Mail में आपको Alt के साथ B बटन पर क्लिक करना होगा.

Image: © Руслан Нестеренко - 123RF.com
ओरिजिनल आर्टिकल jak58 ने पब्लिश किया. Swarnkanta ने अनुवाद किया. ताजा अपडेट: 22 अप्रेल, 2018 - 02:50 अपराह्न पर RanuP ने किया.
CCM (https://in.ccm.net/) पर उपलब्ध यह डॉक्युमेंट "ईमेल में CC और BCC के बीच अंतर" क्रिएटिव कॉमन लाइसेंस के तहत उपलब्ध कराया गया है. जैसा कि इस नोट में साफ जाहिर है, आप इस पन्ने को लाइसेंस के तहत दी गई शर्तों के मुताबिक संशोधित और कॉपी कर सकते हैं.
विंडोज एक्टिवेट करें
उबन्टु में इंस्टॉल पैकेज के लिए सोर्स कोड डाउनलोड करें