Reliance Jio phone number me port kaise kare

सवाल पूछें

रिलायंस जियो भारत मे सबसे तेजी से बढ़ती टेलिकॉम कंपनियों मे से एक है. कंपनी की औसत डाटा स्पीड अन्य कंपनियों से बेहतर है. ऐसे मे यदि आप जियो मे अपना फोन नंबर (सिम) पोर्ट करना चाहते हैं तो यह आसानी से किया जा सकता है. जियो पोर्टेबिलिटी प्रक्रिया काफी आसान है. जियो सिम पोर्टेबिलिटी के बाद आप कंपनी के धन धना धन ऑफर के प्रयोग भी कर सकते हैं. सिम पोर्ट करने का तरीका जानने के लिए आर्टिकल पढ़ें.

Jio में नंबर पोर्ट करने की प्रक्रिया

Jio मे पोर्ट करना भी किसी अन्य टेलिकॉम कंपनी की पोर्टिंग प्रक्रिया जैसी ही है. इसके लिए आपको अपने एमएसएस मैसेज बॉक्स मे जाकर PORT टाइप करना है, उसके आगे अपना फोन नंबर लिखना है और 1900 पर भेजना है:



आपको कुछ ही मिनट में एक यूनीक पोर्टिंग कोड मिल जाएगा. यह कोड आपको 1901 नंबर से आएगा:



इस एसएमएस मिलने से 15 दिन के अंदर ही आपको रिलायंस जियो के मोबाइल स्टोर मे जाना होगा. वहाँ पर फ्री मिल रहे कस्टमर एप्लिकेशन फॉर्म को भरना होगा. इस फॉर्म के साथ आपको एड्रेस प्रूफ, एक पहचान पत्र और एक फोटो भी देनी होगी. इसके बदले आपको एक जियो सिम कार्ड मिलेगा.

Jio सिम कब एक्टिवेट होगा

आम तौर पर यह सिम रात 10 बजे से सुबह पाँच बजे के बीच एक्टिवेट होगा. हो सकता है कि आपके फोन पर नेटवर्क सर्विस दो घंटे तक गायब रहे. आपको यह ध्यान देना होगा कि आपके वर्तमान सिम पर सिग्नल आना बंद हो जाए या No Signal दिखने लगे, तब आपको जियो सिम लगा लेना होगा. वैसे जियो सिम लेने के बाद एक्टिवेट होने तक सात दिन का अधिकतम समय लग सकता है. एक्टिवेट होने के बाद पहले रिचार्ज या बिल में आपको 19 रुपए का पोर्टिंग शुल्क भी देना होगा.

Photo: © Jio.
Jean-François Pillou

CCM पर आने वाली सारी जानकारियों को जीन फ़्रांसवा पिलाओ की अगुआई में आईटी विशेषज्ञ एक साथ मिलकर तैयार करते हैं. जीन फ़्रांसवा पिलाओ CCM के संस्थापक और Figaro Group के डिजिटल डायरेक्टर हैं. CCM फ्रांस की नंबर वन टेक वेबसाइट है. ये 11 भाषाओं में उपलब्ध है.

CCM टीम के बारे में और जानिए

यह भी पढ़ें