कूलिंग सिस्टम - कैसा फैन चुनें

सवाल पूछें
फैन आपके कंप्यूटर का एक बेहद जरूरी और अहम हिस्सा है. जब आप कंप्यूटर पर काम कर रहे होते हैं तो उस दौरान कंप्यूटर के हार्डवेयरों से काफी गरमी पैदा होती है जो आपके कंप्यूर के भीतरी हिस्सों को नुकसान पहुंचा सकती है. पर कभी-कभी मौजूदा फैन अपना काम ढंग से नही कर रहा होता है. यदि आप अपने मौजूदा फैन से अधिक ताकतवर बनाना चाहते हैं या कम आवाज करने वाला फैन लगाना चाहते हैं तो हमने इस आर्टिकल मे उसको विस्तार पूर्वक बताया है.


कितने फैन चाहिए?

आपका पीसी कूल रहे इसके लिए आपके पास एक प्रोसेसर सहित कम से कम तीन फैन होने चाहिए. और यदि आपका कंप्यूटर ओवरलॉक्ड हो तो आपको अधिक शक्तिशाली फैन की जरूरत पड़ेगी.

दि आपका फैन उतना शक्तिशाली नहीं है या आपका कंप्यूटर जितनी गरमी पैदा कर रहा है उसके प्रभाव को खत्म करने के लिए मौजूदा फोन काफी नहीं तो आपके कंप्यूटर और उसके कम्पोनेंट को लाइफटाइम नुकसान हो सकता है.

कूलिंग सिस्टम मे कितने झरोखे होते हैं

आपके सिस्टम यूनिट में हर तरफ कम से कम दो खुली जगह यानी ओपनिंग होनी चाहिए. ऐसा इसलिए कि फैन जो हवा पैदा कर रहा है उसे बाहर निकलने की पूरी जगह मिले. यदि ये ओपनिंग हनीकॉम्ब कंफिगरेशन में हो तो बेहतर होगा.

फैन का डाइमेंशन

सिस्टम यूनिट के उपलब्ध स्पेस के आकार को देखते हुए कंप्यूटर को ठंडा करने वाले हार्डवेयर और कंप्यूटर के किस्म को चुनें. डाइमेंशन इंच में होते हैं. इनका रूप कुछ यूं होता है: 80 x 80 x 25 मिलीमीटर.

फैन का प्रकार

फैन कई प्रकार के होते हैं. प्रोसेसर (सीपीयू), ग्राफिक्स कार्ड, वीजीए, मदरबोर्ड, चिपसेट आदि के लिए अलग अलग फैन होते हैं.

कम्पैटीबलिटी

क्वालिटी को ध्यान में रखना जरूरी है. फैन इंटेल और एएमडी कंपनी का होना चाहिए. यह प्रोसेसर (Athlon, Duron, Sempron, Turion, Opteron, Celeron, Pentium, Core Duo आदि), सॉकेट के हिसाब से ही आता है.

हवा की अधिकतम फलो या स्पीड

इसका निर्धारण हवा प्रति मिनट कितने क्यूबिक (CF/M) पैदा होती है इस पर निर्भर होता है. मतलब यदि ये ज्यादा हो तो फैन अधिक ठंडा करेगा. एयरफ्लो यानी हवा की निकासी आमतौर पर 30 और 70 CFM होती है.

पंखा घूमने की रफ्तार

इस रफ्तार को प्रति मिनट में नापा जाता है. रोटेशन प्रति मिनट यानी आरपीएम (RPM). यह रफ्तार आमतौर पर 1200 और 4500 रेवोल्यूशन प्रति मिनट होती है.

सामग्री

इसके लिए एल्यूमिनियम और तांबा सबसे सही होगा. लेकिन अब पीवीसी, प्लास्टिक और अच्छे स्टील के भी फैन मिल रहे हैं.

फैन से होने वाले शोर या आवाज की भी लिमिट है

शोर या आवाज कितनी है इसे dBA (डेसिबल) में मापा जाता है. निर्माताओं ने इसकी सीमा 15 और 40 dBA के बीच तय की है. लेकिन वास्तव में ये 40 और 70dBA के बीच होते हैं. आप इस बात का ख्याल रखें कि शोर या आवाज 60dBA से ज्यादा न हो.
Jean-François Pillou

CCM पर आने वाली सारी जानकारियों को जीन फ़्रांसवा पिलाओ की अगुआई में आईटी विशेषज्ञ एक साथ मिलकर तैयार करते हैं. जीन फ़्रांसवा पिलाओ CCM के संस्थापक और Figaro Group के डिजिटल डायरेक्टर हैं. CCM फ्रांस की नंबर वन टेक वेबसाइट है. ये 11 भाषाओं में उपलब्ध है.

CCM टीम के बारे में और जानिए