CCM पासवर्ड रिकवरी में मदद क्यों नहीं करता?

नवम्बर 2016

CCM सुरक्षा कारणों से डिजिटल आइडेंटिफिकेशन कीज या खोए हुए पासवर्ड की रिकवरी में मदद नहीं करता. दुर्भाग्य से इस बात को साबित कर पाना बेहद कठिन है कि पासवर्ड रिकवरी के लिए जो मदद मांगी जा रही है वो सच्ची है, झूठी नहीं. साथ ही, ये भी पता लगाना मुश्किल है कि मदद मांगने वाला यूजर सचमुच में अपना पासवर्ड खो चुका है या गलत मकसद के कारण ऐसा होने का बहाना कर रहा है. इंटरनेट पर आइडेंटिटी थेफ्ट यानी पहचान की चोरी, पाइरेसी, हैकिंग जैसी गैरकानूनी गतिविधियां इन दिनों चरम पर हैं. ऐसे में भले यूजर अपनी पहचान साबित करने में कामयाब हो जाए, CCM ने तय किया है कि वो अपने फोरम पर इस तरह के सवालों के जवाब देने से परहेज करेगा.


CCM पासवर्ड रिकवरी में मदद नहीं करता

CCM के सदस्य Windows, Mac, Linux सहित दूसरे ऑपरेटिंग सिस्टम में पासवर्ड को रिकवर करने में आपकी मदद नहीं कर सकते. यही नियम हमने डिजिटल कोड या दूसरे उन सिस्टम के लिए तय किए हैं जिन्हें पासवर्ड आईडेंटिफिकेशन की जरूरत होती है. ध्यान रखें डिजिटल कोड में bios पासवर्ड शामिल होते हैं. यदि आपने सेकेंड-हैंड लैपटॉप खरीदा है तो हम आपको सलाह देंगे कि आप निर्माता के स्वामित्व स्थानांतरण प्रोग्राम को जानें या अपना पासवर्ड रीसेट करें.

समस्या भले ही हल हो गई हो लेकिन फोरम पर थ्रेड दिखाई देता रहता है. इसे सर्च इंजन में भी पाया जा सकता है. कोई भी गलत या आपराधिक प्रवृति का व्यक्ति हैकिंग या दूसरे गंभीर अपराधों के लिए इसका फिर से इस्तेमाल कर सकता है.

इसलिए हमारी नजरों में इस समस्या का बस एक ही समाधान है कि आप सचेत रहें और जब तक पूरी तरह कंठस्थ न हो पासवर्ड को किसी गुप्त जगह पर लिख कर रख दें.

हैकिंग या पाइरेटिंग क्या है?

पासवर्ड की पाइरेटिंग या हैकिंग का मकसद बिना प्रमाणित और अधिकृत पहचान के सिस्टम में घुसना होता है ताकि गुप्त और निजी या प्रतिबंधित जानकारियों तक पहुंचा जा सके और सिस्टम की सुरक्षा के हितों के प्रतिकूल कार्रवाई की जा सके.

मैंने पाइरेसी या हैकिंग जैसा कोई काम किया है, ये कैसे जानूं?

कई बार ऐसा होता है कि हम इस बात से पूरी तरह अनजान होते हैं कि फलां एक्शन, या फलां काम गैरकानूनी है. यदि आप किसी सिस्टम में बिना सही या कानूनी पहचान के प्रवेश करने की कोशिश करते हैं तो इसे पाइरेसी करना कहते हैं. आप जिस तरह के सवाल पूछेंगे CCM सदस्य आपको तुरंत उसके अनुसार आर्टिकल पढ़ने का सुझाव देंगे.

पासवर्ड की पाइरेसी या हैंकिग में कोई खतरा है?

जी हां, पासवर्ड की पाइरेसी या हैंकिग के कई खतरे हैं. इन खतरों में शामिल है :

कानूनी परिणाम. अधिकांश देशों में साइबर से जुड़ी चोरी और हैकिंग के खिलाफ सख्त कानून है जिसके तहत गंभीर दंड का प्रावधान है. वैसे दंड का प्रावधान हर देश में अलग अलग है. अधिकांश में जुर्माना, जेल और कुछ मामलों में शारीरिक दंड की सजा है.

सिस्टम के मालिक का प्रतिशोध: ये प्रतिशोध शारीरिक, नैतिक या तकनीकी हो सकता है.
ये भी संभव है कि आपको इससे भी अधिक तकनीकी समझ वाले व्यक्ति से सामना करना पड़े, और आपकी गलत कार्रवाई आपके ही खिलाफ इस्तेमाल की जाए.

अपने पेशे निष्कासित होने का खतरा : किसी खास डोमेन में कई सालों के लिए आपको बहिष्कृत किया जा सकता है.

पासवर्ड रिकवर करने के उपाय

पासवर्ड को रिकवर करने के लिए कोई कदम उठाने से पहले ये सुनिश्चित कर लें कि आप अकाउंट से जुड़ा सही पासवर्ड डाल रहे हैं. ये जांच लें कि सभी अपकेस और लोअरकेस लेटस सही सही इनपुट किए गए हैं, कि कोई की आपके कीबोर्ड पर स्टिक नहीं हो रही, और ये भी जांच लें और सुनिश्चित कर लें कि आपका डिजिटल कीबोर्ड सही सही सेट (QWERTY या AZERTY) हुआ है.

ये सारे कदम उठाने के बावजूद अभी भी आपको अपने पासवर्ड के साथ दिक्कत आ रही है तो हम आपको साइट के ऐडमिनिस्ट्रेटर से पूछने का सुझाव देंगे. यदि आप Windows XP या Microsoft administrator account होल्डर हैं तो आप माइक्रोसॉफ्ट के support फोरम पर जा सकते हैं. वैसे यूजर जो Windows 2000 या इसके पहले के वर्जन से सपोर्टेड हैं तो उन्हें हमारा FAQ पढ़ना चाहिए.

यह भी पढ़ें :
CCM (in.ccm.net) पर उपलब्ध यह डॉक्युमेंट«  CCM पासवर्ड रिकवरी में मदद क्यों नहीं करता?  » क्रिएटिव कॉमन लाइसेंस के तहत उपलब्ध कराया गया है. जैसा कि इस नोट में साफ जाहिर है, आप इस पन्ने को लाइसेंस के तहत दी गई शर्तों के मुताबिक संशोधित और कॉपी कर सकते हैं.