फेसबुक अकाउंट लॉक या डिसेबल हो गया, क्या करें

दिसम्बर 2016

फेसबुक ने खास तरीके से लोकप्रियता हासिल की है. वह सोशल नेटवर्क साइट पर अपने अधिकार और जिम्मेदारियों को लागू करने को लेकर काफी सख्त हो गया है. इसी कारण, नियमों में थोड़ी भी अनदेखी से अकाउंट लॉक या डिसेबल होने का खतरा रहता है. अधिकांश मामलों में अकाउंट रिकवरी तो फटाफट हो जाती है. लेकिन कुछ ऐसे मामले होते हैं जब सुरक्षा से जुड़ी चिंताएं होती हैं तो अकाउंट रिकवरी काफी मुश्किल साबित होती है.

इस लेख में उन सभी अलग अलग कारणों की जानकारी दी जाएगी जिनकी वजह से आपका फेसबुक अकाउंट लॉक या डिसेबल हो सकता है. साथ ही आपको अकाउंट को रिकवर करने सभी तरीके बताए जाएंगे.


फेसबुक अकाउंट रिकवर कैसे करें

हमने पहले भी जिक्र किया है कि कि फेसबुक अकाउंट के ब्लॉक होने या डिसेबल होने के कई कारण होते हैं. इन कारणों को हम तीन श्रेणी में बांट सकते हैं. साइट का रखरखाव, गड़बड़ी, सुरक्षा. फेसबुक पर सीधा जाने से पहले ये जरूरी है कि आप अपने ब्लॉक हुए अकाउंट की पहचान करें और इसके संभावित कारणों को समझें. ताकि फेसबुक टीम आपकी चिंता को दूर कर सके.

अपने अकाउंट को एक्सेस ना कर पाने का सबसे पहला कारण तो ये हो सकता है कि साइट के सामान्य रखरखाव का काम चल रहा हो. जब साइट पर काम चल रहा होता है तो वेबमास्टर अकाउंट को लॉक कर देता है ताकि यूजर्स उसे एक्सेस ना करें और किसी तरह की छेड़छाड़ ना करें. ऐसे मेे आपके अकाउंट का एक्सेस रीस्टोर हो जाता है जब काम पूरा हो जाता है.

ये भी संभव है कि आपका अकाउंट यूजर या सिस्टम से जुड़ी गड़बड़ी के कारण डिसेबल हो गया हो. यदि आपका कोई दोस्त गलती से आपके किसी कंटेन्ट को या तो अपमानजनक कह दे या उसे spam बता दे तो भी अकाउंट लॉक हो सकता है. फेसबुक जब वह रिपोर्ट किए गए कंटेन्ट की छानबीन करते समय अपने आप आपके अकाउंट को तब फ्लैग करेगा. यह भी संभव है को किसी दूसरे यूजर ने आपके अकाउंट को जाली बताया हो और फेसबुक से उसे रिमूव करने की अपील की हो. यदि आपको लगता है कि आपका अकाउंट गलती से डिसेबल हो गया है तो आप फेसबुक के फैसले पर फिर से विचार करने की गुजारिश कर सकते हैं. इसके लिए आपको एक फॉर्म (लिंक देखें) भरना होगा. इस फॉर्म के एक बार सबमिट किए जाने के बाद फेसबुक मामले की जांच करेगा. ध्यान रखें कि आपकी गुजारिश पर फेसबुक को छानबीन करने में वक्त लग सकता है. आपको कई हफ्ते भी इंतजार करना पड़ सकता है.

फेसबुक सुरक्षा से जुड़े मामलों को काफी गंभीरता से लेता है. तो यदि उसे आपके अकाउंट पर किसी तरह के खतरे का अंदेशा समझ में आ रहा हो तो सिस्टम अपने आप फ्लैग करेगा और कहेगा कि रीव्यू की जरूरत है. इसके बाद यूजर का एक्सेस डिसेबल हो जाता है. सुरक्षा से जुड़े खतरों में कई बातें शामिल हो सकती हैं: जैसे कि झूठी पहचान से अकाउंट बनाना, गैरकानूनी चीजों को बढ़ावा देना, डेटिंग के लिए अनचाहे तरीके से संपर्क करना, दूसरे यूजर्स को तंग करना, या आम संदिग्ध गतिविधि.

सही कारणों के बावजूद ऐसे कई तरीके हैं जिनकी मदद से आप अपने फेसबुक अकाउंट के का एक्सेस फिर से पा सकते हैं.

फेसबुक की आईडी समीक्षा

यदि फेसबुक को शक है कि आपके दो अकाउंट है या आपने गलत नाम से अकाउंट बनाया है तो आपको एक मैसेज मिलेगा. लिखा होगा आपका आई रिव्यू करने के बाद हम आपके दिए हुए ईमेल ऐड्रेस पर आपको संपर्क करेंगे. अभी आपका अकाउंट लॉक किया जा रहा है यदि ऐसा है तो दुर्भाग्य से ज्यादा कुछ नहीं किया जा सकता है जब तक कि फेसबुक की छानबीन न खत्म हो जाए और वो आपको कॉन्टैक्ट न करे.

अतिरिक्त डॉक्यूमेंट का फेसबुक रीव्यू

यूजरों को कई एरर मैसेज आते हैं. जैसे कि दुर्भाग्य से आप अपने अकाउंट को एक्सेस नहीं कर पाएंगे क्योंकि हम इन अतिरिक्त डॉक्यूमेंट्स को रीव्यू कर रहे हैं. और जितना जल्दी हो सकेगा हम आपके पास वापस आएंगे. यदि ऐसा है तो आपको कहा जाएगा कि आप फेसबुक को अतिरिक्त डॉक्यूमेंट दें ताकि वो आपकी पहचान की पुष्टि कर सके.

फेसबुक किस तरह के डॉक्यूमेंट को मानता है, उन्हें आप कैसे अपलोड कर सकते हैं, आपको इन्हें अपलोड करना क्यों जरूरी है और यदि आपने निम्नलिखित लिंक पर क्लिक करके इन्हें अपलोड कर दिया तो इनका क्या होगा: अपनी पहचान की पुष्टि करें. ऊपर दिए गए लिंक को आप अपने डॉक्यूमेंट को अपलोड करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं.

अपनी पहचान से जुड़े पेपर को अपलोड करने से पहले निम्नलिखित सुझावों पर अमल करें ताकि कोई खतरा न हो:


अपना आईडी कार्ड लें किसी भी तरह की गोपनीय जानकारी को कवर कर लें (जैसे कि: आपका लाइसेंस या पासपोर्ट नंबर)

अपने आईडी का नजदीक से पिक्चर लें या स्कैन करें.

ठीक से देख लें कि आपका नाम, जन्मदिन और फोटो स्पष्ट हो.

फोटो को अपने कंप्यूटर में सेव कर लें.

कॉन्टैक्ट फॉर्म पर वापस जाएं, अपलोड को क्लिक करें और जिस फाइल में आपकी आईडी है उसे सलेक्ट करें.
फेसबुक जवाब देगा लेकिन आपको थोड़ा धैर्य रखना होगा. शायद इसमें हफ्ते लगें.
ध्यान रखें कि यदि आपने झूठी पहचान से फेसबुक अकाउंट ओपन किया है तो आप अपना अकाउंट कभी भी रीकवर नहीं कर पाएंगे.

फेसबुक अकाउंट रिकवरी

यहां हम कुछ सुझाव दे रहे हैं जिनकी मदद से आप लॉक या डिसेबल हो चुके फेसबुक अकाउंट का फिर से एक्सेस पा सकते हैं. कृपया ध्यान रखें कि लॉक अकाउंट के कारणों को देखते हुए अकाउंट की रिकवरी में अलग अलग समय लग सकता है.

जो अकाउंट पायरेटेड, फिश्ड, या गड़बड़ लगेगें फेसबुक उन्हें डिसेबल कर सकता है. यदि ऐसा है तो समस्या सुलझाने का दो तरीका है. या तो आप अपना ब्राउजर क्लीन करें या आप अतिरिक्त वेरीफिकेशन प्रोसेस की मदद लें.

अगले 96 घंटों तक फेसबुक अकाउंट ओपन करने की जरा भी कोशिश ना करें. अपने ब्राउजर कैच को क्लियर करें और अपने कूकीज को डिलीट करें. कई मामलों में केवल इसी से आपके अकाउंट का एक्सेस वापस मिल जाएगा.

यदि अभी भी आप लॉग-इन नहीं कर पा रहे हैं तो आप अतिरिक्त ऑटोमेटेड सेक्यूरिटी वेरीफिकेशन प्रोसेस की मदद ले सकते हैं. इसे करने का एक तरीका है कि आप अपना मोबाइल नंबर कंफर्म करें. इसके लिए आप फेसबुक को आपके फोन पर टेक्स्ट मैसेज के जरिए एक कोड भेजने के लिए कहें जिसे आप ऑनलाइन एंटर कर सकें. दूसरा तरीका है अपने दोस्तों को वेरीफाई करें. इसके लिए उन्हें एक के बाद एक फोटो में पहचानें जिनमें वे टैग किए हुए हैं. यदि यह सफल हुआ तो आपको एक बधाई संदेश मिलेगा. और आप अपना अकाउंट वापस हासिल कर सकेंगे.

अपने अकाउंट को लॉक होने से कैसे बचाएं

ऐसा कोई सटीक विज्ञान नहीं है जिससे हर समय के लिए आपके अकाउंट तक आपका एक्सेस सुनिश्चित हो सके. लेकिन ऐसे कुछ उपाय जरूर हैं जो आपके अकाउंट को लॉक, फ्लैग, या डिसेबल होने से बचाएंगे.

सबसे पहला सुझाव तो ये है कि आप फेसबुक के Statement of Rights and Responsibilities को रीव्यू करें और जितना संभव हो सारे नियमों को पढ़ें. याद दिला दें, कि इन नियमों के पालन में कोई भी लापरवाही आपके अकाउंट में छानबीन का कारण बन सकती है.

हम आपको We also advise against the use of प्रॉक्सी सर्वर या सर्वर्स का प्रयोग करने से बचने की सलाह देंगे जो गुमनाम आईपी का इस्तेमाल करते हैं ताकि साइट तक एक्सेस को ब्लॉक किया जा सके. प्रॉक्सी सर्वर का इस्तेमाल फेसबुक अकाउंट के लिए ठीक नहीं होगा. क्योंकि फेसबुक प्रॉक्सी के बारे में जानता है और इससे पूरे नेटवर्क की सुरक्षा को खतरा हो सकता है.

आखिर में, हम सुझाव देंगे कि एक ही बार में एक से अधिक डिवाइस से अपना अकाउंट एक्सेस ना करें. वैसे फेसबुक जरूर मल्टी-डिवाइस ऑथेंटिफिकेशन की इजाजत देता है लेकिन ऐसा करने को कई बार सुरक्षा पर खतरा के रूप में देखा जाता है.

यह भी पढ़ें :
CCM (in.ccm.net) पर उपलब्ध यह डॉक्युमेंट«  फेसबुक अकाउंट लॉक या डिसेबल हो गया, क्या करें  » क्रिएटिव कॉमन लाइसेंस के तहत उपलब्ध कराया गया है. जैसा कि इस नोट में साफ जाहिर है, आप इस पन्ने को लाइसेंस के तहत दी गई शर्तों के मुताबिक संशोधित और कॉपी कर सकते हैं.