देश के सभी ईवॉलेट, मोबाइल बैंकिंग असुरक्षित

देश के सभी ईवॉलेट, मोबाइल बैंकिंग असुरक्षित
अगर आप ईवॉलेट से बेधड़क लेन-देन करते हैं तो सावधान होने की जरूरत है. इस रिपोर्ट से आपकी परेशानी बढ़ सकती है.

(CCM) — एक तरफ सरकार ई-वॉलेट और कैशलेस लेन-देन को बढ़ावा दे रही है. तो उधर क्वलकॉम की एक रिपोर्ट में ये बात सामाने आई है कि देश में सभी मोबाइल बैंकिंग और ई-वॉलेट लेन-देन पूरी तरह असुरक्षित है.

क्वलकॉम दुनिया की सबसे बड़ी चिपसेट प्रोसेसर बनाने वाली कंपनी है. इसने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि भारत में चल रही नेटबैंकिंग सर्विस और ई-वॉलेट ऐप का हार्डवेयर काफी कमजोर है. यही वजह है कि पूरा सिस्टम कमजोर बन जाता है. यानी अगर आप इस सिस्टम से पैसों का लेन-देन कर रहे हैं तो कोई गारंटी नहीं कि आपके साथ कोई धोखा ना हो!

क्वलकॉम ने रिपोर्ट में कहा है, "जो सिस्टम हार्डवेयर के स्तर पर विकसित किया जाना चाहिए था वह एंड्रॉयड स्तर पर तैयार किया गया है. भारत की एक बहुत बड़ी आबादी एंड्रॉयड मोबाइल फोन ही इस्तेमाल करती है. ऐसे में इस सिस्टम को हम सुरक्षित नहीं कह सकते हैं. आपके फिंगरप्रिंट या पासवर्ड के आसानी से चोरी होने की संभावना बढ़ जाती है."

बिना नाम लिए रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि भारत का सबसे लोकप्रिय ई-वॉलेट ऐप भी इस हार्डवेयर सिस्टम का प्रयोग नहीं करता है.

क्वलकॉम दुनिया के 37% मोबाइल के लिए चिपसेट बनाती है. यही नहीं, एंड्रॉयड बाजार का एक बहुत बड़ा हिस्सा है जो क्वलकॉम सिस्टम पर निर्भर है. बहुत जल्द क्वलकॉम देश की ई-वॉलेट कंपनियों को सुरक्षित बनाने के लिए काम शुरू कर सकती है.

Photo: © Minerva Studio - Shutterstock.com
आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.