PUBG 'निगेटिव इफेक्ट्स' के कारण यहाँ भी हुआ बैन

स्वर्णकांता - 9 जुलाई, 2019 - पूर्वाह्न 11:59 IST बजे
PUBG 'निगेटिव इफेक्ट्स' के कारण यहाँ भी हुआ बैन
PUBG को उसके निगेटिव इफेक्ट्स के कारण जॉर्डन में बैन कर दिया गया.

(CCM) — दुनिया भर को अपना दीवाना बना चुके PlayerUnknown's Battlegrounds यानी PUBG पर जॉर्डन ने भी पाबंदी लगा दी है. इसे लोगों के लिए नकारात्मक असर वाला बताया गया है.

PUBG मोबाइल पर खेला जानेवाला एक पॉपुलर गेम है. भारत में भी इसके काफ़ी दीवाने हैं. गेम की दीवानगी का आलम ये है कि 2017 में लॉन्च हुए इस गेम को अब तक 5 करोड़ से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है.

ऑनलाइन मल्टीप्लेयर गेम के खिलाफ युवाओं और बच्चों के दिमाग पर हिंसक असर डालने के आरोप लगे हैं. इसलिए इस पर भारत समेत अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. भारत के गुजरात में इसपर बैन लगने के बाद, अब जॉर्डन में भी इस पर पाबंदी लगा दी गयी है. इसके अलावा पबजी चीन, नेपाल, ईराक और इंडोनेशिया के आचेह में भी बैन हो चुका है.

रिपोर्ट के मुताबिक जॉर्डन के टेलीकम्यूनिकेशंस रेगुलेटरी अथॉरिटी ने पबजी का लोगों पर होने वाले निगेटिव इफेक्ट्स के खिलाफ चेतावनी जारी की है. और इसके बाद इसे आधिकारिक तौर पर ब्लॉक कर दिया गया है. इराक की सरकार को डर है कि यह ऑनलाइन मल्टीप्लेयर गेम युवाओं और बच्चों के मस्तिष्क पर हिंसक प्रभाव डाल रहा है, जो देश और समाज के लिए सही है।

मई में चीन की दिग्गज टेक कंपनी टेन्सेन्ट ने पबजी मोबाइल यूजर्स को एक नए गेमिंग ऐप पर माइग्रेट कर दिया है.

PUBG जॉर्डन में काफी लोकप्रिय है. पर इसके निगेटिव इफेक्टस को देखते हुए सरकार ने कर्मचारियों को इसे ना खेलने की चेतावनी दी है.

देश के मनोविज्ञानियों ने इस बात की लगातर चेतावनी जी है कि पबजी हिंसा को बढ़ावा देता है और युवाओं के बीच बुलिंग को बढ़ाता है.

क्या आप जानते हैं PUBG कैसे खेला जाता है. इसमें क़रीब 100 खिलाड़ी किसी टापू पर पैराशूट से छलांग लगाते हैं, हथियार खोजते हैं और फिर एक-दूसरे को तब तक मारते रहते हैं जब तक कि उनमें से केवल एक ना बचा रह जाए. आखिर में जो बचता है वो विनर होता है. इसे 4 लोग भी समूह बनाकर खेल सकते हैं. जो अंत में बचा वो विनर होता है. इसे खेलने के लिए मोबाइल में 2 जीबी स्पेस का होना जरूरी होता है.

PUBG को दक्षिण कोरियाई वीडियो गेम कंपनी ब्लूहोल ने मार्च 2017 में डेवेल किया था. इसे जापान की एक थ्रिलर फ़िल्म 'बैटल रोयाल' से प्रभावित होकर तैयार किया गया. इसमें सरकार छात्रों के एक ग्रुप को जबरन मौत से लड़ने भेज देती है. इस गेम में प्लेयर खेलते हुए एक दूसरे से चैट भी कर सकते हैं.

Photo: © parilovv - 123rf.com