Google Play पर मिले 2,000 खतरनाक ऐप: शोध

स्वर्णकांता - 25 जून, 2019 - अपराह्न 08:43 IST बजे
Google Play पर मिले 2,000 खतरनाक ऐप: शोध
Google Play Store पर कुछ लोकप्रिय ऐप सहित 2,000 खतरनाक ऐप पाए गए हैं.

(CCM) — Google Play Store पर मौजूद 2,040 ऐप किसी न किसी तरह से नुकसानदेह हैं. ये जानकारी सिडनी यूनिवर्सिटी और CSIRO's Data61 की रिपोर्ट में सामने आई है.

सिडनी यूनिवर्सिटी और CSIRO's Data61 ने गूगल प्ले पर कितने और किस तरह के खतरनाक और फर्जी ऐप हैं, ये पता लगाने के लिए शोध किया. ये शोध दो साल तक चला.

Google Play पर कई ऐप ऐसे पाए गए हैं जो यूजर्स के लिए नुकसानदेह हैं. गूगल ने इन्हें पले स्टोर से हटा जरूर लिया है, लेकिन गंभीर बात ये है कि ऐसा लगातार क्यों हो रहा है. खतरनाक पाए गए लगभग 2,000 ऐप में से कई ऐप को एंड्रॉयड यूजर्स धड़ल्ले से इस्तेमाल करते पाए गए हैं.

शोध में गूगल प्ले के तकरीबन 10 लाख ऐप को शामिल किया गया. इनमें कई ऐप ऐसे हैं जो फर्जी हैं, लेकिन फिर भी वे यूजर्स के डेटा को एक्सेस करने के लिए परमिशन मांगते हैं. जबकि ऐसे फर्जी ऐप को यूजर्स के डेटा से कोई लेना-देना नहीं होना चाहिए. इनमें कई तो चर्चित Hill Climb Racing या Temple Run जैसे गेमिंग ऐप भी शामिल हैं.

शोध में शामिल किए गए सभी 10 लाख ऐप की जांच-पड़ताल करने के लिए शोधकर्ता ने मशीन लर्निंग और न्यूरल नेटवर्क जैसी तकनीक की मदद ली. उन्होंने पाया कि Google Play store में कई ऐप के नाम, आइकन और टेक्स्ट एक जैसे हैं. प्ले स्टोर के बेहद लोकप्रिय 10,000 ऐप के साथ ऐसा पाया गया. शोध विज्ञानियों ने ‘multi-modal embedding’ मशीन लर्निंग प्रोसेस की मदद से करीब 49,608 खतरनाक ऐप का भी पता लगाया है.

ऑनलाइन मालवेयर का पता लगाने वाले ऐप VirusTotal की मदद ली गई और पाया गया कि ऐप स्टोर के तकरीबन 7,246 ऐप गड़बड़ हैं. इनमें से 2,040 ऐप फर्जी और खतरनाक मिले. जबकि 1,565 ऐप कम से कम पांच संवेदनशील परमिशन (संवेदनशील जानकारियां) मांगते हैं और 1,407 ऐप में थर्ड पार्टी ऐड लाइब्रेरी शामिल रहते हैं. embed third-party ad libraries.

गूगल के मुताबिक कंपनी अपने Play Story से इन मालवेयर ऐप को हटा रही है. उसका दावा है कि वो पिछले साल के मुकाबले अधिक तेज से ऐसे ऐप को डिलीट कर रही है. गूगल का दावा है कि प्ले स्टोर पर रिजेक्ट किए गए ऐप की संख्या पिछले साल की तुलना में 55% बढ़ी है. जबकि ऐप सस्पेंशन रेट बढ़कर 66% हो गया है.

इससे जुड़े कंपनी के ब्लॉग पोस्ट में गूगल प्ले प्रोडक्ट मैनेजर एंड्रू ने बताया, "प्ले स्टोर पर मौजूद बुरे और हानिकारक ऐप की संख्या कम हो, इसके लिए हमने नीतियों के पालन पर लगातार कड़ी नजर रखी है. यही वजह है कि पिछले साल की तुलना में ऐप सस्पेंशन रेट बढे हैं."

Photo: © Bloomua - Shutterstock.com