PUBG पर लगा उम्र का ताला, अभिभावक की होगी नजर

स्वर्णकांता - 5 मार्च, 2019 - अपराह्न 08:47 IST बजे
PUBG पर लगा उम्र का ताला, अभिभावक की होगी नजर
13 साल से कम उम्र के बच्चों के PUBG खेलने पर रोक लग गई है.

(CCM) — चीन के लोकप्रिय गेम प्लेयरअननोन्स बैटल ग्राउंड्स यानी PUBG गेम को 13 साल से कम उम्र के बच्चे नहीं खेल पाएंगे. यह रोक फिलहाल अभी सिर्फ चीन में लगी है.

PUBG मोबाइल गेम अब तक का सबसे लोकप्रिय ऑनलाइन मल्टीप्लेयर गेम बन चुका है. एक ओर जहां करोड़ों लोग इसके दीवाने हो रहे हैं, बच्चों और किशोरों के मानसिक सेहत पर इसके असर को लेकर चिंता जाहिर की जा रही है.

बता दें कि PUBG Mobile एंड्रॉयड और iOS दोनों स्मार्टफोन पर फ्री है. और हम सब ये भी जानते हैं कि आजकल स्मार्टफोन तक बच्चों की पहुंच कितनी आसान हो गई है. मतलब घर घर में किशोर और किशोरी अपने हैंडसेट में PUBG Mobile खेल सकते हैं.

इधर रिपोर्ट आ रही है कि भारत में महाराष्ट्र और गुजरात सरकार बच्चों के PUBG Mobile खेलने पर रोक लगाने की तैयारी कर रही है. अब चीन भी युवाओं के बीच इस ऑनलाइन गेमिंग के प्रति बढ़ते लत को देखते हुए सतर्क हो गया है. इसीलिए सरकार ने इस गेम के खेलने 13 साल से कम उम्र के बच्चों पर रोक लगा दी है.

Gamesindustrybiz.com की एक रिपोर्ट के मुताबिक Tencent बच्चों और किशोरों पर पड़ने वाले इस गेम के नकारात्मक असर को लेकर चिंतित है और उन्हें इससे दूर रखना चाहती है. इसीलिए अब उसने इस गेम के खेलने पर डिजिटल लॉक लगा दिया है, यानी अब 13 साल के कम उम्र के बच्चे इसे नहीं खेल पाएंगे. डिजिटल लॉक सिस्टम में बच्चों या किशोरों को गेम अनलॉक करने के लिए गार्जियन की इजाजत की जरूरत होगी.

इसके अलावा, Tencent Games फेसियल रिकग्नीशन और प्लेयर आईडी चेक जैसी तकनीक भी इस्तेमाल कर रही है. इससे चीन में Honour of Kings और दूसरे गेम प्लेयर की उम्र पहचानना आसान हो जाएगा.

मल्टीप्लेयर बैटल गेम PUBG दिसंबर 2017 में लॉ़न्च हुआ था. गेम दुनिया भर के यूजर्स को रीयल-टाइम में एक दूसरे से कनेक्ट करता है. इसमें प्लेयर घंटों तक गेम में मिशन के लिए फाइट करने में लगे रहते हैं. इसे PUBG Corporation ने तैयार किया है. दूसरी ओर PUBG Mobile को पिछले साल फरवरी में लॉन्च किया गया. इसे Tencent Games ने विकसित किया है.

Photo: © Tencent Games.

यह भी पढ़ें