Redmi Note 7 Pro या Samsung Galaxy M30, किसे खरीदें

स्वर्णकांता - 3 मार्च, 2019 - पूर्वाह्न 01:00 IST बजे
Redmi Note 7 Pro या Samsung Galaxy M30, किसे खरीदें
Redmi Note 7 Pro और Samsung Galaxy M30 दोनों ही भारत में लॉन्च हो चुके हैं.

(CCM) — Xiaomi और Samsung ने लगभग एक ही समय और मिलती-जुलती कीमत में स्मार्टफोन भारत में पेश किए हैं. देखते हैं कि Redmi Note 7 Pro और Samsung Galaxy M30 में कौन बेहतर है.

इसे भाग्य कहें, या दुर्भाग्य, लेकिन हर बार सैमसंग, ओप्पो और विवो जैसे स्मार्टफोन मेकर जब भी भारत में मिड रेंज फोन लॉन्च करते हैं, शाओमी भी कम कीमत और बेहतरीन स्पेक्स के टक्कर देने वाले फोन लेकर आ जाता है.

Redmi Note 7 Pro और Samsung Galaxy M30 लगभग एक ही साथ भारत में पेश किए गए हैं. नया नया लॉन्च हुआ Xiaomi Redmi Note 7 Pro, 14,990 रुपए की शुरुआती कीमत वाले सैमसंग के Galaxy M30 के साथ टक्कर लेने को तैयार है. सैमसंग के 4 GB रैम वाले स्मार्टफोन के बेस वेरिएंट की कीमत 14,990 रुपये है. दूसरे वेरिएंट में 6 GB रैम के साथ 128 GB की इंटरनल मेमोरी दी गई है. इसकी कीमत 17,990 रुपये है.

Redmi Note 7 Pro के 4 GB रैम वेरिएंट की कीमत 13,999 रुपए है. 6 GB रैम वेरिएंट की कीमत 16,999 रुपये है. इसके तीन कलर वेरिएंट हैं. इनमें ब्लू, रेड और ब्लैक शामिल हैं.

आइए पता करते हैं कि Redmi Note 7 Pro और Samsung Galaxy M30 के बीच कौन बेहतरीन सौदा है.

Xiaomi Redmi Note 7 में 6.3 इंच का एफएचडी प्लस बेजल लेस डिस्पले है. फोन में सनलाइट मोड फीचर मौजूद है. इसका इस्तेमाल सीधी धूप में भी किया जा सकता है, क्योंकि इसमें आप टेक्सट को बेहतर तरीके से डिस्पले कर सकते हैं. ये डॉट नॉच डिस्पले के साथ लॉन्च किया गया है. इसका मतलब है कि आपको अधिक स्क्रीन एरिया मिलेगा.

जबकि Samsung M30 में 6.4 इंच का फुलएचडी प्लस डिस्पले है. एक खास बात ये है कि इसमें रेडमी नोट 7 के मुकाबले सुपर एमोलेड डिस्पले मौजूद है.

एरगोनॉमिक्स की बात करें तो Redmi Note 7 Pro के दोनों साइड में खूबसूरत ग्लास बॉडी है. इसे गोरिल्ला ग्लास 5 की सुरक्षा प्राप्त है. इसमें कोई शक नहीं कि इस मायने में दोनों में से Note 7 बेहतर है. दरअसल M30 में प्लास्टिक का अधिक इस्तेमाल किया गया है. इस सेगमेंट में रेडमी नोट 7 प्रो सैमसंग के गैलेक्सी एम30 पर भारी पड़ा है.

परफॉर्मेंस और हार्डवेयर के मामले में, Xiaomi Redmi Note 7 Pro स्नैपड्रैगन 675 प्रोसेसर से लैस है. जुगलबंदी के लिए इसमें 4 GB और 6 GB रैम मौजूद है. हैंडसेट एंड्रॉयड पाई MIUI 10 पर चलता है. फोन में 14nm चिपसेट का इस्तेमाल किया गया है. इसके कारण हैंडसेट बेहतर तरीके से मल्टी-टास्क कर सकता है. ये हाई-एंड गेमिंग के साथ ही, बेसिक ऑपरेशन को अच्छे से हैंडल करने में उस्ताद है.

Redmi Note 7 में 128 GB स्टोरेज क्षमता है जिसे जरूरत पड़ने पर बाद में बढ़ाया जा सकता है. Samsung Galaxy M30 की स्टोरेज क्षमता को 512 GB तक बढ़ाया जा सकता है. आपको जानकर खुशी होगी कि नोट सीरीज ने आखिरकार टाइप-सी चार्जिंग तरीका अपना लिया है. आजकल ये तरीका ट्रेंड में है.

M30 एक्सीनोस 7904 ओक्टा-कोर चिपसेट से लैस है. इसमें Redmi Note 7 Pro की ही तरह फेस अनलॉक फीचर भी है. साथ में, हैंडसेट बैक पैनल पर फिंगरप्रिंट सेंसर से लैस है.

कैमरा और बैटरी की ओर रुख करें, तो शाओमी ने इस मामले में पीठ थपथपाने का काम किया है. Redmi Note 7 Pro की क्वालिटी इतनी अच्छी है कि ये iPhone XS Max के कैमरे को भी चुनौती दे सकती है.

जी हां, Redmi Note 7 Pro में सोनी IMX586 सेंसर का इस्तेमाल किया गया है. इसकी गिनती बेहतरीन सेंसर्स में से की जाती है. फोन में 48 मेगापिक्सल प्लस 5 मेगापिक्सल का डुअल रियर कैमरा सेटअप है. कैमरा 30fps की स्पीड से 4k वीडियो रिकॉर्डिंग कर सकता है. इसके साथ ईआईएस भी आता है. रेडमी नोट 7 प्रो में एआई एनेबल्ड फीचर से लैस 13 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा दिया गया है.

तो Samsung Galaxy M30 में ट्रिपल 13+5+5 मेगापिक्सल रियर कैमरा सेटअप है. वीडियो कॉलिंग और सेल्फी के लिए 16 मेगापिक्सल का कैमरा दिया गया है.

बैटरी देखें तो Samsung Galaxy M30 में शानदार 5,000 एमएएच की बैटरी है. इससे फोन आराम से डेढ़ दिन तक चल सकता है. इसमें 15W चार्जर के जरिए क्विक चार्ज सपोर्ट भी दिया गया है.

इसके विपरीत, Redmi Note 7 Pro में 4,000 एमएएच की बैटरी है. लेकिन ये भी फोन को 24 घंटे से अधिक चला सकती है. इसमें क्विक चार्ज 4.0 का सपोर्ट है.

ये तो रही दोनों फोन की खूबियों की बात. अब सवाल उठता है कि इनमें से किसे खरीदें? देखा जाए तो शाओमी नोट सीरीज चिरपरिचित चैंपियन है और Note 7 Pro में भी ये सारी बातें मौजूद हैं. इसमें बेहतरीन हार्डवेयर है, फ्लैगशिप स्मार्टफोन की क्वालिटी का कैमरा सेटअप है. इसकी शुरुआती कीमत 13,999 रुपए है. .

जबकि सैमसंग ने मिड-रेंज सेगमेंट वाले भारतीय स्मार्टफोन पर अच्छी पकड़ बना रखी है. खासतौर से J7 और यहां तक की On Nxt ने लोगों का भरोसा जीत लिया है. वैसे ये सच है कि सैमसंग के फोन की बिक्री शाओमी के मुकाबले अधिक नहीं है. पर कंपनी 15 हजार रुपए तक के फोन के सेगमेंट पर अपना पूरा ध्यान दे रही है और फिर से कस्टमर पर पकड़ बनाने की राह पर है. अंत में, M30 एक अच्छा फोन है पर शाओमी किलर की बात ही कुछ और है.

Photo: © iStock.

यह भी पढ़ें