Facebook ने प्राइवेट डाटा के लिए दिए 20 डॉलर: रिपोर्ट

Facebook ने प्राइवेट डाटा के लिए दिए 20 डॉलर: रिपोर्ट
Facebook ने टीनएजर्स के प्राइवेट डाटा एक्सेस करने के लिए 1,500 रुपए दिए.

(CCM) — एक पॉपुलर टेक न्यूज वेबसाइट की रिपोर्ट के मुताबिक Facebook टीनएजर्स को एक ऐप इंस्टॉल करने के लिए पैसे दे रहा है. इस ऐप के जरिए फेसबुक को यूजर्स की निजी जानकारियों का एक्सेस मिल जाता है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि फेसबुक ये काम पिछले तीन साल से कर रहा है. वह 13 से 35 साल के यूजर्स को इस काम के लिए हर महीने 20 डॉलर यानी लगभग 1,500 रुपए दे रहा है. उनसे iOS या एंड्रॉयड Facebook Research ऐप इंस्टॉल करने के लिए कहा जाता है.

फेसबुक ने Applause, BetaBound, और uTest जैसी बीटा टेस्टिंग सर्विस का इस्तेमाल करके फेसबुक 13 से 35 साल के बच्चों और वयस्कों को टारगेट कर रहा है. यूजर्स को Facebook Research नाम के एक VPN ऐप को उनके एंड्रॉयड और iOS डिवाइस में इंस्टॉल करने के लिए कहा जाता है. इससे फेसबुक को डिवाइस की वेब ऐक्टिविटी के साथ ही पर्सनल मैसेज और अन्य मीडिया का एक्सेस मिल जाता है.

सोशल मीडिया दिग्गज यूजर्स को यहां तक कि उनके अमेज़न ऑर्डर का हिस्ट्री पेज का स्क्रीनशॉट भेजने के लिए कहता है. इस डॉक्यूमेंटेशन को "प्रोजेक्ट एटलस" का नाम दिया गया है. ये नाम दुनिया भर में नए ट्रेंड और अपने दुश्मनों पर नजर रखने की फेसबुक की कोशिश के हिसाब से सटीक बैठता है.

रिपोर्ट की मानें, तो फेसबुक भविष्य में इस काम को रोकने के मूड में नहीं है. फेसबुक रिसर्च ऐप फेसबुक के ही Onavo Protect ऐप से मिलता है. इस ऐप पर जून में रोक लगा दी गई थी और अगस्त में इसे हटा दिया गया था.

Photo: © catwalker - Shutterstock.com
यह भी पढ़ें
  • Facebook ने प्राइवेट डाटा के लिए दिए 20 डॉलर: रिपोर्ट