Fake News के खिलाफ WhatsApp और Jio एकजुट

स्वर्णकांता - 26 सितम्बर, 2018 - अपराह्न 04:34 IST बजे
Fake News के खिलाफ WhatsApp और Jio एकजुट
फेक न्यूज रोकने के लिए WhatsApp ने रिलायंस Jio के साथ मिलकर काम करने की योजना बनाई है.

(CCM) — Jio और WhatsApp ने मिलकर भारत में फ़ेक न्यूज़ के खिलाफ मुहिम शुरू की है. व्हाट्सऐप जियो फोन यूजर्स को गलत संदेश के लिए आगाह करेगा और इसके खिलाफ उन्हें जागरुक करेगा.


जियोफोन यूजर्स को अपने व्हाट्सऐप पर ऐसे एजुकेशन मटीरियल मिल रहे हैं जो उन्हें व्हाट्सऐप मैसेजेज को सोच समझ कर शेयर करने की बात कहते हैं. जियोफ़ोन के 2.5 करोड़ यूजर्स हैं. ये सभी पहली बार व्हाट्सऐप का इस्तेमाल कर रहे हैं. और ये सब ऐसे वक्त में हुआ है जब देश फेक न्यूज़ की समस्या से जूझ रहा है. कंपनी उन सभी यूजर्स को इसके लिए जागरुक करने का काम करेगी.

सस्ता डाटा और हाई स्पीड पर बेहद किफायती टैरिफ प्लान के बाद जियो ने स्मार्ट फीचर फोन पेश करके सब पर रंग जमा दिया. भारत में ये लोगों को खूब पसंद आ रहा है. इसे जियो ने एक साल पहले लॉन्च किया था. लेकिन व्हाट्सऐप फीचर इसमें पिछले महीने ही शुरू किया गया है.

व्हाट्सएेप पर शेयर होने वाले फ़ेक वीडियो और फ़ेक मैसेज के कारण सरकार पहले ही व्हाट्सएेप पर दबाव बनाए हुए है. पिछले दिनों मैसेंजर पर झूठी खबरें फैला कर डर का माहौल बनाने और हिंसा की कई घटनाएं हुईं. वायरल हुए फेक न्यूज के कारण अब तक 30 लोग मारे भी गए हैं.

व्हाट्सऐप और जियो इन सबके खिलाफ एकजुट होकर लड़ेंगे. कंपनी ने छोटे शहरों और गांवों के यूजर्स को अपना लक्ष्य बनाया है. पुलिस के मुताबिक ऐसे दूरदराज और ग्रामीण इलाकों में अल्पसंख्यकों के खिलाफ हिंसा और नफरत के सबसे अधिक मामले सामने आते हैं.

व्हाट्सऐप प्रवक्ता कार्ल वूग के मुताबिक सभी नए जियोफोन यूजर्स को एजुकेशन मैटीरियल मिल रहा है. ये उन्हें फॉरवार्डेड मैसेज के खतरे के बारे में आगाह जागरुक करता है. उन्हें बताता है कि किसी भी मैसेज को फारवर्ड करने के पहले कई बार सोचें. भारत में 20 करोड़ से अधिक व्हाट्सऐप यूजर्स हैं.

Photo: © Jim Carter - Shutterstock.com