प्रधानमंत्री मोदी ने लॉन्च किया नया कैशलेस पेमेंट सिस्टम

Swarnkanta - 6 सितम्बर, 2018 - अपराह्न 03:17 IST बजे
प्रधानमंत्री मोदी ने लॉन्च किया नया कैशलेस पेमेंट सिस्टम
भारत में बिना एटीएम और डेबिड कार्ड के नयी पेमेंट सर्विस लॉन्च की गई है.

(CCM) — भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नया पेमेंट सिस्टम, IPPB यानी इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक शुरू किया है. कैशलेस ट्रांजैक्शन सर्विस से यूजर घर बैठे सारे लेन-देन कर सकेंगे. ये लेन-देन क्यूआर कोड के जरिए होगा.


प्रधानमंत्री ने लॉन्च के मौके पर बताया कि देश के 650 जिलों और 3250 डाकघरों में इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक की सुविधा शुरू हो रही है और इस पहल से बैंक को गांव और गरीब के दरवाजे तक लेकर जाने का काम शुरू होगा. उन्होंने इसे एक क्रांतिकारी कदम बताया और कहा कि देश की अर्थव्यवस्था में और सामाजिक व्यवस्था में ये बड़ा परिवर्तन लाने वाला है.

पेमेंट बैंक आपीपीबी में भारत सरकार की 100% हिस्सेदारी है. इससे ग्रामीण और दूर-दराज के इलाकों में जहां बैंकिंग सुविधाएं ना के बराबर है, लोग घर बैठे कैशलेस लेन-देन कर सकेंगे। साथ ही, इससे डाक विभाग के व्यापक नेटवर्क और तीन लाख से अधिक डाकियों और ग्रामीण डाक सेवकों का लाभ मिलेगा.

देश के 1.55 लाख डाकघरों को 31 दिसंबर 2018 तक आईपीपीबी प्रणाली से जोड़ लिया जाएगा. आईआईपीबी अपने खाताधारकों को पेमेंट बैंक के साथ-साथ चालू खाता, धन हस्तांतरण, प्रत्यक्ष धन अंतरण, बिलों के भुगतान जैसी सर्विस भी देगा.

नरेंद्र मोदी ने आईपीपीबी सेवा लॉन्च करते हुए बताया था कि अब लेन-देन के लिए एटीएम कार्ड या डेबिट कार्ड जैसे फिजिकल साधनों की जरूरत नहीं रहेगी. इसकी जगह अब यूजर कैशलेस ट्रांजैक्शन के लिए क्यूआर यानी क्विक रेस्पॉन्स कार्ड का इस्तेमाल करेंगे. इस क्यूआर कोड को पारंपरिक पिन कोड या पासवर्ड की जगह बायोमेट्रिक ऑथेंटिकेशन की मदद से एक्टिव किया जाएगा. इससे पैसों के लेन-देन पहले से तेज और सुरक्षित तरीके से होंगे. इसकी शुरुआत आम आदमी के लिए एक सस्ते, भरोसेमंद और आसान पहुंच वाले बैंक के तौर पर की गई है.

पिछले शनिवार को शुरू हुए इस बैंकिंग सर्विस में तीन तरह के खाते- आम, डिजिटल और बेसिक, शुरू किए जाएंगे. इन सबके अलावा यूजर इस बैंकिंग सर्विस के साथ चालू खाता भी खोल सकते हैं. बैंक में लेन-देन के लिए न तो डेबिट और न ही एटीएम कार्ड की जरूरत होगी.

आईपीपीबी का मोबाइल ऐप एंड्रॉइड यूजर्स के लिए गूगल प्ले पर पहले से उपलब्ध है. अब यूजर बिना पोस्ट बैंक गए अपने आधार कार्ड की मदद से यहां खाता खोल सकते हैं.

क्यूआर कोड एक खास बारकोड है जो हर यूजर को दिया जाएगा, और ये एक ही होगा. ये सुरक्षित कोड है. इन्हें केवल कोड स्कैनर या माइक्रो एटीएमस की मदद से ही जाना जा सकेगा. माइक्रो एटीएम हाथ में पकड़ा जाने वाला डिवाइस है जो पोस्टमैन आपके दरवाजे तक लेकर आएगा.

जब भी किसी यूजर को बैंक से पैसा निकालने की जरूरत होगी उन्हें सबसे पहले बैंक का कोई कर्मचारी या पोस्टमैन वेरिफाई करेगा. ये वेरिफिकेशन बायोमेट्रिक डेटा की मदद से किया जाएगा. वेरिफिकेशन टू-स्टेप प्रोसेस होगा. इसे पूरा करने के बाद ही पोस्टमैन यूजर को कैश देगा. डोर-डिलीवरी यानी दरवाजे तक आने वाली इस सर्विस के लिए आपको हर ट्रांजैक्शन, यानी लेन-देन के लिए 25 रुपए का भुगतान करना होगा.

Photo: © bluebay - Shutterstock.com