Aadhaar अपडेट हिस्ट्री ऑनलाइन हुई

Swarnkanta - 8 जून, 2018 - अपराह्न 05:24 IST बजे

Aadhaar अपडेट हिस्ट्री ऑनलाइन हुई

UIDAI ने आधार अपडेट हिस्ट्री को ऑनलाइन देखने और डाउनलोड करने की सुविधा शुरू की है.

(CCM) — भारत के विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने आधार कार्ड होल्डर्स के लिए एक खास फीचर पेश किया है. इसकी मदद से अब आधार अपडेट हिस्ट्री यूजर्स के पास होगी. इसे डाउनलोड किया जा सकता है.



UIDAI के सीईओ डॉ. अजय भूषण पांडेय के मुताबिक, "नए फीचर की मदद से यूजर अपने आधार की अपडेट की गई हिस्ट्री को UIDAI वेबसाइट पर देख पाएंगे. हमने इसका बीटा वर्जन लॉन्च किया है." इस फीचर के आने के बाद अब यूजर्स किसी भी अथॉरिटी की मांग पर इसे डाउनलोड कर उपलब्ध करवा सकते हैं. आधार हिस्ट्री में इसके रजिस्ट्रेशन के बाद से ऐड्रेस और दूसरे फिल्ड में किस तारीख को कौन से अपडेट हुए हैं उन्हें देखा जा सकता है.

यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया के सीईओ के मुताबिक आधार हिस्ट्री उपलब्ध होने से लोगों के बीच आपसी विश्वास के डोर मजबूत होंगे, लोगों का सशक्तिकरण होगा. क्योंकि अब नौकरी, स्कूल में एडमिशन, ढेर सारे सर्विसेज या बेनिफिट आदि के लिए अथॉरिटीज को आधार अपडेट तुरंत मुहैया कराया जा सकेगा. अक्सर इन मामलों में लोगों से उनके पिछले दो या तीन साल का पता देने को कहा जाता है. पहले ये सुविधा नहीं होने से लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता था."

आइए देखते हैं कि आधार अपडेट हिस्ट्री को ऑनलाइन कैसे देखा और डाउनलोड किया जा सकता है. अपना आधार अपडेट हिस्ट्री जानने के लिए आपको सबसे पहले यूआईडीएआई की ऑफिशियल साइट पर जाना होगा. यहां आपको 'Aadhaar Update History' पर क्ल‍िक करना होगा. इस पर क्ल‍िक करते ही आपके सामने एक नया पेज खुलेगा. यहां आपको अपना आधार नंबर या वर्चुअल आईडी डालनी होगी. इसके बाद सिक्योरिटी कैप्चा डालना होगा. इसे डालते ही आपके जिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर वन टाइम पासवर्ड आएगा.ओटीपी डालने के बाद आपके सामने आधार अपडेट हिस्ट्री होगी. इसे आप डाउनलोड भी कर सकते हैं ताकि बाद में इसका इस्तेमाल कर सकें.

एक ओर आधार हिस्ट्री डाउनलोड करने की सुविधा आने से यूजर्स खुश हैं तो दूसरी ओर कुछ जानकार इस पर चिंता भी जता रहे हैं. दरअसल पिछले कुछ दिनों आधार से जुड़े डाटा का गलत इस्तेमाल होने जैसी कई खबरें और विवाद सामने आए. जनवरी में तो चंडीगढ़ से 8 लोगों को झूठे आधार कार्ड के जरिए महंगे फोन खरीदने के आरोप में पकड़ा भी गया था. भारत में आधार डाटा लीक्स कुछ बड़ी समस्याओं में से एक है.

एक रिपोर्ट की मानें तो भारत में अब तक 73 बार आधार का गलत इस्तेमाल हुआ है. ऐसे वक्त में आधार हिस्ट्री को डाउनलोड करने जैसी सुविधा का आना परेशानियों को बढ़ा भी सकता है.

Photo: © John Kehly - Shutterstock.com