WhatsApp पेमेंट के खिलाफ Paytm के जंग का ऐलान

स्वर्णकांता - 4 मार्च, 2018 - अपराह्न 06:36 IST बजे
WhatsApp पेमेंट के खिलाफ Paytm के जंग का ऐलान
Paytm ने WhatsApp पेमेंट फीचर को UPI सिस्टम पर खतरा बताया है.

(CCM) — भारत में व्हाट्सऐप का पेमेंट फीचर जल्दी ही लॉन्च होने वाला है. इस बीच Paytm ने व्हाट्ऐप के जरिए UPI पेमेंट को जोखिम भरा बताया है और उस पर दिशानिर्देशों का सही तरीके से पालन नहीं करने का भी आरोप मढ़ा है.


भारतीय डिजिटल पेमेंट कंपनी Paytm के फाउंडर विजय शेखर शर्मा ने ट्वीट किया, "फ्री बेसिक्स जैसे दांव खेलते हुए भारत के ओपन इंटरनेट के खिलाफ जंग हारने के बाद फेसबुक ने दोबारा गेम में एंट्री की है. फेसबुक UPI सिस्टम को अपने इम्प्लीमेंटेशन से खत्म कर रहा है."

विजय शेखर शर्मा ने ये भी कहा है कि वे व्हाट्सएेप के पेमेंट फीचर के खिलाफ UPI सिस्टम बनाने वाले नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया यानी NPCI में याचिका दायर करेंगे.

भारत में जहां इतनी बड़ी तादाद में लोग व्हाट्सऐप का इस्तेमाल करते हैं, इसके पेमेंट फीचर आने से पेटीएम जैसी कंपनियों को बड़ा झटका लगने वाला है. शर्मा का आरोप है कि फेसबुक भारत के पेमेंट सिस्टम में सेंध लगाने की कोशिश कर रहा है. यूपीआई एक भारतीय स्टेक है, और अब एक अमरिकी कंपनी इसमें हस्तक्षेप कर रही है.

व्हाट्सऐप पेमेंट ऐप आने के बाद यूजर्स ने केवल मैसेज और कॉल, बल्कि पैसों का लेन-देन भी कर पाएंगे. कंपनी पहले से ही एक लाख ग्राहकों के साथ इसके ​बीटा वर्जन को आजमा रही है. इस फीचर के एक्टिव होने से इसके 20 करोड़ यूजर्स अपने व्हाट्सऐप अकाउंट से पैसों को भेज और प्राप्त कर पाएंगे.

NPCI से जुड़े लोगों का कहना है कि पेमेंट फीचर मार्च के अंत तक आ जाएगा. जानकारों के मुताबिक किसी भारतीय कंपनी और अंतरराष्ट्रीय कंपनी की ये कोई पहली लड़ाई नहीं है. दूसरी तरफ ओला और उबर जैसे कई और UPI ऐप हैं जो यहां कामयाब हैं.

Paytm की शुरुआत भारत में 2010 में हुई थी. फिर नोटबंदी के दौरान ये इतना लोकप्रिय हुआ कि इसने 30 करोड़ यूजर्स के साथ मोबीक्विक, फ्रीचार्ज और फोनऐप जैसी घरेलू कंपनियों को पीछे छोड़ दिया था. पेटीएम ने बैंकिंग सेवा भी शुरू की है और ​आगे चलकर इंश्योरेस में भी हाथ आजमा सकता है.