Twitter पर फर्जी फॉलोवर बढ़ाने वाली कंपनी की जांच

स्वर्णकांता - 29 जनवरी, 2018 - अपराह्न 02:52 IST बजे
Twitter पर फर्जी फॉलोवर बढ़ाने वाली कंपनी की जांच
न्यूयॉर्क की एक कंपनी पर सोशल मीडिया पर कथित तौर पर नकली फ़ॉलोवर बेचने के आरोप लगे हैं.

(CCM) — न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक Devumi ने लाखों की संख्या में असली लोगों की पहचान और उनकी प्रोफाइल पिक चुराई, रीट्वीट, फ़ॉलोवर या लाइक बेचें. हालांकि कंपनी ने इन आरोपों से इंकार किया है. पड़ताल शुरू कर दी गई है.


ट्विटर का कहना है कि वो रीट्वीट, फ़ॉलोवर या लाइक ख़रीदने वाले अकाउंट्स को रद्द कर देगी. और देवूमी और ऐसी ही कंपनियों को रोक लगाएगी.

शनिवार को न्यूयॉर्क टाइम्स में छपी देवूमी कंपनी पर एक खास रिपोर्ट में ऐसे कई लोगों से बातचीत पेश की गई जिनके सोशल मीडिया अकाउंट्स से जुड़े डाटा और प्रोफ़ाइल पिक को कॉपी किया गया है.

रिपोर्ट में बताया गया कि आरोपी कंपनी ने मशहूर शख्सियतों से हूबहू मिलते बोट तैयार किए. बोट ऑटोमैटिक कंप्यूटर प्रोग्राम होते हैं. ये अपने आप चलते हैं. ये ट्वीट, रीट्वीट या लाइक जैसे काम आसानी से और लगातार कर सकते हैं.

आरोप है कि जो लोग सोशल मीडिया पर अपनी फ़ॉलोइंग या लोकप्रियता बढ़ाना चाहते हैं, वो पैसे देकर इन बोट्स की सेवाएं हासिल कर सकते हैं. ऐसे लोगों में अभिनेता, राजनेता, उद्योगपति शामिल हैं.

देवूमी अपनी वेबसाइट पर ढाई लाख की सीमा तक फ़ॉलोवर बेचने का दावा करती है. इसके लिए उसने शुरुआती कीमत 12 डॉलर रखी है. वेबसाइट पर ये भी बताया गया है कि यूजर यहां से अपनी पोस्टों पर लाइक और रीट्वीट भी ख़रीद सकते हैं.

इसके अलावा वेबसाइट पर ये जानकारी भी दी गई है कि देवूमी लिंक्डइन, यूट्यूब, साउंडक्लाउड और पिनट्रेस्ट पर भी फ़ॉलोवर और लाइक्स बेचती है. न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि देवूमी के पास 35 लाख बोट हैं. कि इनमें से करीब 55 हजार बोट अकाउंट ऐसे हैं जिनमें वास्तविक लोगों की तस्वीरों और पतों का इस्तेमाल किया गया है.

Image: © iStock.