HP के 460 लैपटॉप में टाइपिंग ट्रैक सॉफ्टवेयर मिले

Swarnkanta - 13 दिसम्बर, 2017 - अपराह्न 02:19 IST बजे
HP के 460 लैपटॉप में टाइपिंग ट्रैक सॉफ्टवेयर मिले
HP के 460 से अधिक लैपटॉप में टाइपिंग ट्रैक करने वाले सॉफ्टवेयर पाए गए हैं.

(CCM) — HP के सैंकड़ों लैपटॉप में प्री-इंस्टॉल्ड सीक्रेट सॉफ्टवेयर कीलॉगर पाया गया है. ये कंप्यूटर कीबोर्ड पर टाइप किए जाने वाली हर निजी और गुप्त जानकारी को रिकॉर्ड कर लेता है. HP ने 460 लैपटॉप के प्रभावित होने की पुष्टि की है.


सिक्युरिटी रिसर्चर माइकल माइंग के मुताबिक एचपी लैपटॉप के सॉफ्टवेयर ड्राइव में प्रीइंस्टॉल कीलॉगिंग कोड पाए गए हैं. कंपनी ने भी HP के 460 मॉडल के ‘सुरक्षा के नजरिए से गंभीर रूप संवेदनशील’ होने की बात स्वीकार की है.

HP ने इन कीलॉगर को रिमूव करने के लिए अपने कस्टमर को सॉफ्टवेयर अपडेट जारी किए हैं. इस खतरे से एलीटबुक, प्रोबुक, पवेलियन और एनवे रेंज के लैपटॉप प्रभावित पाए गए हैं. HP ने 2012 के बाद बने और प्रभावित होने वाले डिवाइसों की पूरी सूची भी जारी की है.

रिसर्चर माइंग ने बताया है कि जब उन्होने लैपटॉप के कीबोर्ड ड्राईवर को इंस्टॉल करने के लिए अाईडीए को ओपन किया तो इसमें कुछ अन्य स्ट्रिंग्स भी देखी. ये स्ट्रिंग्स यूजर्स द्वारा टाइप किए गए कैरेक्टर्स को स्नैपटिक्स डिवाइस ड्राईवर के जरिए अटैकर्स तक पहुंचा सकती हैं.

माइंग ने बताया है कि एक दिन वे स्नैपटिक्स टचपैड सॉफ्टवेयर की जांच परख कर रहे थे. वे यह जानने की कोशिश कर रहे थे कि किसी एचपी लैपटॉप पर कीबोर्ड बैकलाइट को कैसे कंट्रोल करते हैं. इसी समय उन्हें कीलॉगर के बारे में पता चला. उन्होंने बताया कि कीलॉगर डिफॉल्ट रूप से डिसेबल था. लेकिन कोई हैकर कंप्यूटर को एक्सेस करने के बाद इसे एनेबल कर वो सब कुछ रिकॉर्ड कर सकता है जो यूजर उस कंप्यूटर पर टाइप कर रहा है. एचपी के मुताबिक इसे मूल रूप से एरर डिबग करने के लिए स्नैपटिक्स सॉफ्टवेयर में लगाया गया था.

कंपनी ने माना है कि इससे गोपनीयता है को भारी नुकसान पहुंच सकता है. पर साथ ही उसका मानना है कि ना तो स्नैपटिक्स और ना ही एचपी ने किसी कस्टमर का डाटा अब तक एक्सेस किया है.

मई में एचपी लैपटॉप में प्री-इंस्टॉल ऑडियो ड्राइवर में इसी से मिलते जुलते कीलॉगर मिले थे. उस समय कंपनी ने सफाई देते हुए कहा था कि ये कीलॉगर कोड गलती से सॉफ्टवेयर में ऐड हो गए हैं.

Photo: © David M G - Shutterstock.com