खतरनाक साइबर हमले से बचाएगी ये वैक्सीन

Swarnkanta - 29 जून, 2017 - पूर्वाह्न 11:22 IST बजे

खतरनाक साइबर हमले से बचाएगी ये वैक्सीन

कंप्यूटर को साइबर हमले से दूर रखने वाली वैक्सीन मिल गई है. बोस्टन के वैज्ञानिकों ने इसे खोजा है.

(CCM) — अमरीका के बोस्टन की साइबरीजन कंपनी के सिक्युरिटी रिसर्चरर्स ने मंगलवार को दुनिया भर के कई संस्थानों को अपने चपेट में लेने वाले पेट्या रैनसमवेयर से बचने के लिए वैक्सीन खोज ली है.

अब बस एक फाइल क्रिएट कर खतरनाक रैनसमवेयर के हमले से कंप्यूटर को प्रभावित होने से बचाया जा सकता है. आपको इस खतरनाक रैनसमवेयर से बचने के लिए perfc नाम की एक रीड-ओनली फाइल क्रिएट करनी होगी. फिर इसे कंप्यूटर के C:\Windows फोल्डर में रखना होगा. हालांकि यह अहम फाइलों को एनक्रिप्ट नहीं करता. इसीलिए ऐसा नहीं कहा जा सकता कि perfc फाइल से रैनसमवेयर को फैलने से रोका जा सकता है. इसलिए उसी नेटवर्क पर मौजूद दूसरे कंप्यूटर पर वैक्सिनेटेड कंप्यूटर से इंफेक्टेड होने का खतरा बना रहेगा.

मंगलवार को हुए पेट्या नाम के रैनसमवेयर के हमले का भारत के जवाहर लाल नेहरू पोर्ट के कामकाज पर भी असर पड़ा. इसके अलावा इसकी चपेट में ब्रिटेन, रूस, फ्रांस, स्पेन के भी कई फर्म आ गए. कंज्यूमर, शिपिंग, एविएशन, ऑइल ऐंड गैस आदि कंपनियों पर असर पड़ा. इसको कैसे किया जाए इसके बारे में सिक्युरिटी न्यूज वेबसाइट ब्लीपिंग कंप्यूटर पर जानकारी दी गई है.

शोधविज्ञानियों के खोजे गए इस तरीके से केवल उन व्यक्तिगत कंप्यूटरों को बचाया जा सकेगा जिसमें
perfc फाइल होगी. शोधविज्ञानी अभी तक उस किल स्विच का पता लगाने में नाकाम रहे हैं जो इस रैनसमवेयर के हमले को पूरी तरह फेल कर देगा.

शोधकर्ता अभी इसके स्रोत और असल मकसद के बारे में भी पूरी तरह वाकिफ नहीं हो पाए हैं. सरे यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर ऐलन वुडवर्ड के मुताबिक पेट्या रैनसमवेयर की मदद से हैकर्स न सिर्फ सारी फ़ाइलों को एनक्रिप्ट कर देते हैं, बल्कि वे ऑपरेटिंग सिस्टम के एक हिस्से पर हमला करते हैं, जिसे मास्टर फ़ाइल टेबल (एमएफ़टी) कहा जाता है.

एमएफ़टी सिस्टम यह जानने के लिए ज़रूरी होता है कि कंप्यूटर पर फ़ाइलें कहां खोजनी हैं. अगर इसमें अड़चन आ जाए तो इससे भी सारी फ़ाइलें लॉक हो जाती हैं.

इसीलिए हैकर्स एमएफटी पर हमला करते हैं. इससे सारी फाइलों को एक-एक करके लॉक करने के बजाय कम समय में एक साथ सारी फाइलें लॉक हो जाती हैं.

Image: © iStock.