अब कोई नहीं चुरा पाएगा आपकी प्रोफाइल पिक

Swarnkanta - 24 जून, 2017 - अपराह्न 02:56 IST बजे

अब कोई नहीं चुरा पाएगा आपकी प्रोफाइल पिक

फेसबुक जल्दी ही प्रोफाइल पिक गार्ड टूल ला रहा है. इससे प्रोफाइल पिक्चर के गलत इस्तेमाल को रोका जा सकेगा.

(CCM)_ अब आप बेधड़क फेसबुक पर प्रोफाइल पिक्चर में अपनी तस्वीर लगा सकते हैं. कोई भी आपकी प्रोफाइल पिक न तो शेयर, डाउनलोड कर सकेगा और न ही इसका स्क्रीनशॉट ले पाएगा. फेसबुक ने यह कदम भारतीय यूजर्स के फीडबैक के बाद उठाया है.



शुरुआती चरण मे यह फीचर फिलहाल केवल एंड्रॉएड यूजर्स के लिए है. फेसबुक ने बुधवार को इस नए टूल की घोषणा की. उसने अपने ब्लॉग पोस्ट में इसकी जानकारी दी है.

ब्लॉग पोस्ट पर फेसबुक की प्रोडक्ट मैनेजर आरती सोमान ने बताया कि फेसबुक जल्दी ही फोटो गार्ड टूल ला रहा है. फोटो गार्ड एक्टिव करने के बाद दूसरा कोई भी यूजर आपकी प्रोफाइल पिक्चर को डाउनलोड, शेयर या मैसेज में फॉरवर्ड नहीं कर सकेगा. यहा नहीं, जो व्यक्ति आपकी फ्रेंडलिस्ट में नहीं हैं, वो प्रोफाइल पिक्चर में किसी को टैग नहीं कर पाएगा. आपकी प्रोफाइल पिक्चर का स्क्रीनशॉट भी नहीं लिया जा सकेगा.

जब आप फोटो गार्ड यूज करेंगे तो आपकी प्रोफाइल पिक पर ब्लू बॉर्डर दिखेगा. फेसबुक के इस फीचर को दो तरीके से एक्टिव कर सकते हैं. सबसे पहले तो आप अपनी न्यूज फीड को रिफ्रेश करेंगे तो आपको प्रोफाइल पिक्चर प्रोटेक्ट करने का मैसेज दिखेगा.

यहां आप 'टर्न ऑन प्रोफाइल पिक्चर गार्ड' पर टैप करें. ऐसा करने के बाद आपको अपनी प्रोफाइल पिक पर ब्लू बॉर्डर और शील्ड सिंबल दिखेगा. बस सेव कीजिए. अब यह एक्टिव हो जाएगा.

फोटो गार्ड टूल को एक्टिव करने का दूसरा तरीका बहुत आसान है. आप अपनी फेसबुक प्रोफाइल खोलें और प्रोफाइल पिक्चर पर टैप करें. फिर 'टर्न ऑन प्रोफाइल पिक्चर गार्ड' पर क्लिक करें. फिर सेव करें. अब प्रोफाइल पिक्चर पर शील्ड सिंबल दिखाई देगा.

फेसबुक की दुनिया में अपनी पहचान बनाने, दोस्तों बनाने, दोस्त खोजने और सबसे संवाद करने के लिए प्रोफाइल पिक्चर बहुत अहम जरिया है. लेकिन फेसबुक ने भारत में रिसर्च में पाया कि कई महिलाएं फेसबुक प्रोफाइल पिक में अपनी तस्वीरें नहीं लगातीं. उन्हें इसके शेयर होने, गलत इस्तेमाल होने, इसके फेक प्रोफाइल पिक बनाए जाने का डर होता है.

ब्लॉग पोस्ट पर आरती सोमान ने बताया कि कई भारतीय यूजर्स खासकर महिलाओं की ओर से प्रोफाइल पिक शेयर डाउनलोड की शिकायत मिल रही थी. उसके बाद फेसबिक ने भारत में रिसर्च किया. फिर उसने इस टूल को सेंटर फॉर सोशल रिसर्च, लर्निंग लिंक्स फाउंडेशन, ब्रेकथ्रू और यूथ की आवाज जैसी इंडियन सेफ्टी ऑर्गेनाइजेशन की पार्टनरशिप में तैयार किया.

Photo: © Facebook.