अब हर कोई सैटेलाइट फोन प्रयोग कर सकेगा

RanuP - 29 मई, 2017 - पूर्वाह्न 09:51 IST बजे

अब हर कोई सैटेलाइट फोन प्रयोग कर सकेगा

सरकारी कंपनी बीएसएनएल अगले दो साल में देश के कोने-कोने में सैटेलाइट फोन पंहुचाने की योजना बना रही है.

(CCM) — सरकारी कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड यानी बीएसएनएल देश के हर आम आदमी को अगले दो साल में सैटेलाइट फोन से कनेक्ट करने की योजना बना रही है. यह किसी भी प्रकार की नेटवर्क प्रॉब्लम यह प्राकृतिक आपदा के समय भी चलता रहेगा.



सैटेलाइट फोन एक विशेष प्रकार की कम्युनिकेशन डिवाइस है जो देश के किसी भी कोने से आपको किसी भी अन्य फोन पर कॉल के माध्यम से कनेक्ट कर सकता है.

यह हवाई जहाज या पानी में भी चलते हैं. इनको किसी टावर या जमीनी डिवाइस से सिग्नल नहीं मिलते बल्कि सीधे पृथ्वी की कक्षा में स्थापित सैटेलाइट से मिलते हैं. इसीलिए इनको सैटेलाइट फोन कहा जाता है. वैसे ये सैटेलाइट जमीन से लगभग 35,700 किलोमीटर ऊपर की कक्षा में परिक्रमा करते हैं.

बीएसएनएल के चेयरमैन अनुपम श्रीवास्तव ने बताया कि, "हमने इंटरनेशनल मैरीटाइम ऑर्गनाइजेशन को पहले से ही आवेदन भेज दिया है. अगले 18-24 महीनों में यह प्रोसेस पूरा हो जाएगा. इसी दौरान आम नागरिकों को अलग-अलग चरणों में यह फोन उपलब्ध कराया जाएगा."

कंपनी ने INMARSAT सिस्टम के माध्यम से सैटेलाइट फोन सर्विस शुरू किया है. यह शुरू में सरकारी संस्थाओं को दिया जाएगा. बाद में यह आम नागरिकों को दिया जाएगा. वैसे यह सुविधा देने के लिए INMARSAT को 14 सैटेलाइट से कनेक्ट किया गया है. पहले चरण में पुलिस, रेलवे, बॉर्डर सिक्युरिटी फ़ोर्स, डिजास्टर मैनेजमेंट संस्थाओं को यह फोन दिया जाएगा.

जब टैरिफ की बात आई तो कंपनी ने बताया की वो सैटेलाइट फर्म द्वारा वसूली जाने वाले राशि के ऊपर केवल एक रूपए ही लेंगे. वैसे पहले चरण में एक मिनट की कॉल के लिए लगभग 30-35 रूपए चुकाने पड़ सकते हैं. वहीं इन फोन को खरीदने के लिए 40,000 रूपए तक देने होंगे.

यह सारे फोन बाहर से आयातित किए जाते हैं. हो सकता है कि खरीद बढ़ने पर इनकी कीमत भी नीचे आ जाए. मांग और बढ़ने पर हो सकता है भारत में ही ऐसे फोन का एक कारखाना लगा दिया जाय जिससे कीमत और कम हो जाए.

फिलहाल मौजूदा मार्केट में टाटा कम्युनिकेशन ही सैटेलाइट फोन दे रही है. जिसकी सर्विस विदेश संचार निगम लिमिटेड के माध्यम से दी जा रही है. पर यह सर्विस 30 जून के बाद बंद हो जाएंगी. पुराने कनेक्शन बीएसएनएल में ट्रांसफर कर दिए जाएंगे.

Photo: © cornfield - Shutterstock.com
आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.