भारत का डिजिटल इंडिया प्रोग्राम कितना सुरक्षित है

RanuP - 26 मई, 2017 - अपराह्न 12:00 IST बजे

भारत का डिजिटल इंडिया प्रोग्राम कितना सुरक्षित है

तेजी से बढ़ते डिजिटल इण्डिया प्रोग्राम और डिजिटल पेमेंट पर निर्भरता के चलते भारत सायबर अटैकर के लिए जन्नत बना दिया है.

(CCM) — सायबर सिक्युरिटी कंपनी वाइटल इंटेलिजेंस का दावा है की भारत में तेजी से बढ़ते डिजिटल इण्डिया प्रोग्राम की वजह से सायबर हैकरों की भारत पर विशेष नजर है. हाल में हुआ WannaCry रैन्समवेयर अटैक तो बस एक झलकी भर ही है.



इजरायल की इस सायबर सिक्युरिटी कंपनी ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि सरकार जिस तरह से डिजिटलीकरण पर जोर डाल रही है, उस से दुनिया के सायबर हैकरों को भारत के रूप में एक नया टारगेट मिल गया है.

इस रिपोर्ट में कहा गया है की भारत में तेजी से ऑनलाइन माध्यम, मोबाईल फोन, इंटरनेट आदि का चलन बढ़ा है. इसीलिए सरकार को ऐसे खतरों से निपटने के लिए मजबूती से तैयारी करनी होगी.

इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया है की WannaCry रैन्समवेयर ने इतने देशों के सिस्टम में सेंध मारने में इसीलिए सफल रहा क्यूंकि दुनिया बहुत तेजी से डिजिटलीकरण की और बढ़ रही पर रास्ता सुरक्षित बिलकुल भी नहीं है.

वैसे यह जानकारी भी परेशान करने वाली है कि WannaCry अटैक के तुरंत बाद Adylkuzz अटैक हुआ जिसमे विंडोज की उसी खामी का सहारा लेकर दुनिया के कई कंप्यूटर सिस्टम और सर्वर पर अटैक किया गया था.

कुल मिलकर यह समय है सचेत हो जाने का. क्यूंकि डिजिटलीकरण को रोका नहीं जा सकता. देश में हजारों करोड़ का बिजनेस केवल डिजिटल माध्यम से किया जा रहा है. पर देश के डिजिटल सिस्टम और सायबर कानून को जरुरत मजबूत किया जा सकता है.

Photo: © jurgenfr - Shutterstock.com
आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.