दिमाग को कंप्यूटर से जोड़ेगी न्यूरालिंक

RanuP - 28 मार्च, 2017 - पूर्वाह्न 11:53 IST बजे

दिमाग को कंप्यूटर से जोड़ेगी न्यूरालिंक

ऐसा हो सकता है कि जो आप मन में सोचें वो अपने आप होने लगे. टेसला ने नई खोज की है जो दुनिया बदल देगी.

(CCM) — आयरन मैन का टोनी स्टार्क याद है? टेसला के संस्थापक एलन मस्क असल दुनिया के टोनी स्टार्क हैं. हर पल कुछ नया करते हैं. उन्होंने अब ऐसा कुछ किया है जो चर्चा में है. उन्होंने दिमाग को कंप्यूटर से जोड़ने का तरीका खोज निकाला है.

मस्क ने एक कंपनी लॉंच की है. नाम है न्यूरलिंक कॉर्प. यह कंपनी कंप्यूटर को इंसान के दिमाग से जोड़ सकती है. यानी जो कुछ आपका दिमाग सोचेगा वो आपका कंप्यूटर करेगा. भविष्य में यह भी संभव है कि बस आपने मन में कुछ सोचा और बिना हाथ पांव हिलाए वो काम हो जाए.

न्यूरालिंक न्यूरल लेस तकनीक का प्रयोग करता है. यह दिमाग की छोटी-छोटी कोशिकाओं के साथ मिलकर काम करेगा. हमारा मस्तिष्क का वो हिस्सा न्यूरल लेस के बतौर एलेक्ट्रोड काम करेगा. इसी के माध्यम से आप कंप्यूटर में अपना विचार को अपलोड या डाऊनलोड कर सकेंगे.

मस्क ने इस संबंध में आधिकारिक बयान नहीं दिया है पर न्यूरालिंक को कैलिफोर्निया में रजिस्टर्ड करा दिया गया है. इस कंपनी को फंडिंग मस्क स्वयं ही देंगे.

अभी तक केवल एक बात स्पष्ट नहीं हुई है कि न्यूरालिंक किस प्रकार प्रोडक्ट बनाएगी! पर टेसला पहले से ही ऐसे अजूबे करने के लिए फेमस है. यह वही कंपनी है जिसने कुछ दिनो पहले SpaceX रॉकेट लॉंच किया था और दुनिया में सबसे शानदार इलेक्ट्रिक कार बनाती है.

न्यूरालिंक को बतौर मेडिकल रिसर्च कंपनी रजिस्टर्ड किया गया है. यानी संभव है कि अभी न्यूरालिंक को अपना प्रोडक्ट लॉंच करने के कुछ समय लग सकता है.

Photo: © iStock.
आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.