सरकार ने 12 फेक आधार ऐप पर कड़ा एक्शन लिया

RanuP - 6 फ़रवरी, 2017 - पूर्वाह्न 10:33 IST बजे

सरकार ने 12 फेक आधार ऐप पर कड़ा एक्शन लिया

आधार कार्ड नंबर देने वाले डिपार्टमेंट UIDAI ने गूगल प्लेस्टोर पर उपलब्ध 12 ऐप को बंद करवाने का निर्देश दिया है.

(CCM) — देश में आधार कार्ड नंबर देने वाले विभाग UIDAI ने गूगल प्लेस्टोर पर 12 ऐप और इंटरनेट पर उपलब्ध 12 अन्य वेबसाईट के खिलाफ एक्शन लिया है. इन ऐप और वेबसाइट पर आधार कार्ड का गलत इस्तेमाल करने का आरोप लगा है.

UIDAI के अनुसार ये सभी ऐप और वेबसाईट आधार से जुड़ी सुविधाएं देने के लिए यूजर से कुछ शुल्क ले रही थीं जो कानूनन गलत है. इसी वजह से विभाग ने तत्काल कार्रवाई करते हुए गूगल को इन प्रोडक्ट को बैन करने के निर्देश दे दिए हैं. आरोपों के अनुसार यह सभी ऐप आधार कार्ड से जुड़ी जानकारी देने के लिए भी यूजर से पैसा वसूल रहीं थीं. दरअसल यह सभी सुविधाएं फ्री हैं जिसके लिए कोई भी थर्ड पार्टी सर्विस कोई पैसे नही वसूल सकती है.

ग्राहकों के अधिकार के साथ धोका करने के लिए UIDAI ने इसके खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. यही नहीं, ये सभी ऐप यूजर से गलत तरीके से आधार कार्ड डिटेल जैसे एनरोलमेंट नंबर, नंबर आदि की जानकारी वसूल कर रहे थे.

सरकारी विभाग ने साफ किया है कि UIDAI ने सभी कंपनियों को ऐसी की भी प्रकार की जानकारी के लिए अनुमति नहीं दी है. इसीलिए ऐसा करना कानूनन अपराध की श्रेणी में आता है. विभाग ने यह भी बताया कि वो इन सभी ऐप और साइट के मालिकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे.

यही नहीं, जो मोबाइल ऐप आधार का लोगो भी बिना पूछे यूज कर रहे हैं, वैसे भी कंपनियों को भी विभाग की नोटिस भेजी गई है. उनको नोटिस का जवाब देना होगा और तत्काल यह लोगो हटाना होगा. सरकार ने आधार के प्रयोग को बढ़ाते हुए कई सारी सुविधाएं लेने के लिए एक जरुरी जरिया बना दिया है. गैस सब्सिडी से लेकर अन्य सरकारी सुविधाएं लेने के लिए आधार कार्ड का बैंक अकाउंट से जुड़ा होना बहुत जरुरी है.

देश में डिजिटल ट्रांजेक्शन और कैशलेस इकॉनोमी को बढ़ाने के लिए सरकार ने कई सारे नए कदम उठाए हैं. इसी के तरह भीम ऐप भी लॉन्च की गई है. जो आधार कार्ड नंबर के माध्यम से ही पेमेंट प्रणाली को जोड़ रही है और बिना क्रेडिट या डेबिट कार्ड के ही डिजिटल पेमेंट पूरी करती है. कुछ ही दिनों में इस भीम ऐप जैसे दिखने वाले फेक ऐप प्लेस्टोर पर दिख रहे थे. और इसी के बाद UIDAI ने कड़ा कदम उठा लिया है.

Photo: © John Kehly - Shutterstock.com
आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.