भारत में बढ़ रहा है मोबाइल नंबर का संकट

RanuP गुरुवार 13 अक्टूबर, 2016 को पूर्वाह्न 103828 बजे

भारत में बढ़ रहा है मोबाइल नंबर का संकट

भारत में मोबाइल फोन कनेक्शन की संख्या अपनी डिजिट लिमिट पार कर चुकी है. बहुत जल्द 11 अंकों का नब्मर मिलेगा.

(CCM) — भारत में टेलिकॉम क्रांति के एक दशक पूरे होने वाले हैं. फलस्वरूप 10 अंकों की टेलीफोन नंबर डिजिट बहुत जल्द 11 अंकों की कर दी जाएगी. क्यूंकि 10 अंकों वाले फोन नंबर अब खत्म हो चुके हैं. सरकारी अधिकारी बहुत जल्द इस बारे में फैसला ले सकते हैं.

भारत में 10 अंकों का टेलीफोन नंबर होता है. लैंडलाइन और उस शहर का एसटीडी कोड मिलाकर भी पूरे 10 अंक ही बनते हैं. पर अब सभी संख्या खत्म हो चुकी है. इसीलिए सरकार बहुत जल्द 11 अंकों वाले मोबाइल नंबर सीरीज की इजाजत दे सकती है.

जुलाई महीने में देश में मोबाइल उपभोक्ताओं की संख्या 103.42 करोड़ थी. हालांकि एक फैक्ट यह भी है कि जून के महीने की तुलना में जुलाई के मोबाइल उपभोक्ताओं की संख्या कम थी.

तुलनात्मक तौर पर कहा जा सकता है कि देश में मोबाइल उपभोक्ताओं की संख्या कम हो रही है. हालांकि इन कम हो रहे यूजर में सबसे ज्यादा कनेक्शन टाटा टेलिकॉम से जुड़े थे. फिर भी देश में नंबर संकट शुरू हो चुका है. इसके बावजूद देश में अब बड़ा कदम उठाया जा सकता है. पूरे आंकड़ों के को जोड़ें तो मोबाइल और लैंडलाइन नंबर को जोड़कर जुलाई महीने के अंत तक देश में कुल कनेक्शन 105.88 करोड़ रह गई.

Photo: © Minerva Studio - Shutterstock.com
आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.