सावधान! मोबाइल बैटरी से आप पकड़े जा सकते हैं

RanuP गुरुवार 4 अगस्त, 2016 को पूर्वाह्न 112239 बजे

सावधान! मोबाइल बैटरी से आप पकड़े जा सकते हैं

स्मार्टफोन यूजर सावधान! आपकी बैटरी से आपकी ऑनलाइन गतिविधियों को इंटरनेट पर ट्रैक किया जा सकता है.

(CCM) — प्रिंस्टन यूनिवर्सिटी के रिसर्चर स्टीवन इन्ग्लेहार्ड एवं भारतीय मूल के वैज्ञानिक अरविन्द नारायण ने एक शोध में यह पाया कि किसी स्मार्टफोन यूजर के मोबाइल बैटरी से उसकी ऑनलाइन गतिविधियों पर नजर रखी जा सकती है.

स्मार्टफोन की बैटरी से उसके यूजर को इंटरनेट की दुनिया में आसानी ट्रैक किया जा सकता है. यूजर किन-किन वेबसाइटों पर कितना समय दे रहा है इस बात का भी पता लगाया जा सकता है. प्रिंसटन यूनिवर्सिटी के इन शोधकर्ताओं ने ऐसे स्क्रिप्ट का पता लगाया है जो अपने मालिक की ऑनलाइन गतिविधियों की जानकारी दे रही थी.
शोधकर्ताओं ने बैटरी के चार्ज लेवल, चार्जिंग स्टेटस एवं इंटरनेट प्रोटोकॉल नंबर की सहायता से डिवाइस को पहचान लिया.

दरअसल सभी स्मार्टफोन में एक सॉफ्टवेयर होता है. इसकी सहायता से नेट सर्फिंग करते वक्त कोई वेबसाइट लोड होती है. यह सॉफ्टवेयर फोन के बैटरी स्टेटस की जानकारी भी सेव करता है. इस सॉफ्टवेयर को एप्लिकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफेस यानी API कहा जाता है.

यह सॉफ्टवेयर फोन के इंटरनेट सर्फिंग को कंट्रोल करता है. जैसे कम बैटरी होने पर किसी साइट का बेसिक वर्जन ही डाउनलोड करना. यह वही सॉफ्टवेयर है जो पूरी सर्फिंग पर नजर रखता है. तो यदि फोन में बैटरी कम है और आपने कोई वेबसाइट विजिट की है और उसके बाद किसी खास सेक्शन पर गए हैं तो यह सॉफ्टवेयर इस पूरी प्रक्रिया को अपने डाटाबेस में सेव कर लेता है.

खास बात यह है कि यदि आप प्राइवेट या इनकॉग्निटो मोड पर भी सर्फिंग कर रहे हैं तब भी यह आपको ट्रैक कर सकता है. फिर चाहे वो वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (VPN) के माध्यम से ही क्यों न किया गया हो.

Photo: © iStock.
आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.