ट्विटर ने भारतीय रिसर्चर को 6.6 लाख रुपये दिए

RanuP बुधवार 27 जुलाई, 2016 को पूर्वाह्न 105015 बजे

ट्विटर ने भारतीय रिसर्चर को 6.6 लाख रुपये दिए

ट्विटर ने एक भारतीय को 10,080 अमेरिकी डॉलर यानी लगभग 6,60,000 रूपए देकर सम्मानित किया.

(CCM) — गलतियां किससे नहीं होती. हमसे. आपसे या किसी बड़े से भी. इस बार ट्विटर से हुई. माइक्रोब्लॉगिंग साइट से जुड़ी ऐप वाइन का सोर्स कोड सबके सामने था और इसके माध्यम से कोई भी इस साइट को क्रैश यह हैक कर सकता था. पर एक भारतीय ने ट्विटर को बचा लिया.

ट्विटर के बग-बाउंटी प्रोग्राम के तहत कंपनी की ऐप, वेबसाईट में कोई समस्या को उन तक तक पंहुचाने पर वो उस इंसान को कुछ इनाम देती है. इस प्रोग्राम के तहत एक भारतीय इंजीनियर ने वाइन की प्राइवेट ऑनलाइन रजिस्ट्री एक्सेस करके सोर्स कोड तक का रास्ता बना लिया. यह इंजिनीयर सोशल मीडिया की दुनिया में अविकोड़र (AviCoder) नाम से जाना जाता है और इसका असली नाम अविनाश सिंह है.

सिंह ने एक ब्लॉग-पोस्ट में बताया वाइन की समस्या एक असुरक्षित सेटअप में थी जो एक ओपेन प्लेटफॉर्म सॉफ्टवेयर है. और यही प्लेटफॉर्म कंपनी को एप्लीकेशन बनाने एवं चलाने में मदद करता है. इस साल की शुरुआत में अविनाश ने एक ऐसे प्राइवेट रजिस्ट्री खोज निकाली जो पब्लिक को एक्सेस करने के लिए उपलब्ध थी. यानी जिसके माध्यम से कोई भी वाइन के सोर्स कोड को एक्सेस करके खिलवाड़ कर सकता था.

एक ब्लॉग के अनुसार वाइन का पूरा सोर्स कोड, API, थर्ड पार्टी की एवं अन्य सेक्रेट पब्लिक में उपलब्ध था और इसी के माध्यम से वाइन जैसी एक अन्य साईट हू-ब-हू तैयार की जा सकती थी. अविनाश ने मार्च महीने में ट्विटर को इसकी जानकारी दी. जानकारी देने के मात्र पांच मिनट के अंदर ही यह समस्या का समाधान हों चुका था. और अब उसके कुछ महीने बाद ट्विटर ने अविनाश को 6 लाख की रकम देकर समानित किया.

Photo: © GongTo - Shutterstock.com
आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.