कहीं आपका मोबाइल भी हमिंगबर्ड प्रभावित तो नहीं

RanuP गुरुवार 7 जुलाई, 2016 को पूर्वाह्न 125603 बजे

कहीं आपका मोबाइल भी हमिंगबर्ड प्रभावित तो नहीं

भारत में 13 लाख से ज्यादा एंड्रॉयड स्मार्टफोन एक नए प्रकार के वायरस द्वारा प्रभावित हुए हैं.

(CCM) — एंड्रॉयड स्मार्टफोन में एक नये प्रकार का मालवेयर समस्या उत्पन्न कर रहा है. इसका नाम है हमिंगबर्ड जो सबसे पहले इसी साल फरवरी महीने में डिटेक्ट किया गया था. नई रिपोर्ट के अनुसार यह वायरस अब तक दस लाख से ज्यादा एंड्रॉयड फोन को प्रभावित कर चुका है.

सिक्युरिटी फार्म चेक पॉइंट की एक रिपोर्ट के अनुसार इससे सबसे ज्यादा नुक्सान चीन एवं भारत के मोबाइल यूजर ही झेल रहे हैं. चेक पॉइंट के अनुसार यह मालवेयर चीन की ही एक कंपनी यिंगमोब के सॉफ्टवेयर इंजीनियरों ने बनाया है जो अब काफी तेजी से फ़ैल रहा है. यह वही कंपनी है जो कई सारे वैध ऐड ट्रैकिंग सॉफ्टवेयर डेवेलप कर चुकी है. पर अब कुछ इंजीनियरों ने शरारत करते हुए मालवेयर बना दिया है. अब चेक पॉइंट की रिपोर्ट के में आरोप लगाया गया है कि यह टीम कंपनी के ओवरसीज प्लेटफॉर्म की देख रेख करते हैं जिसमे 25 लोग काम करते हैं.

हमिंगबर्ड ने फ्रॉड ऐड रेवेन्यू जेनरेट करने के लिए इस सिस्टम की स्थापना की जो अब मालवेयर में तब्दील होकर कई सारे फोन में पहुंच चुका है. यिंगमोब ने इससे 300,000 डॉलर यानी लगभग 2,02,57,000 करोड़ रुपये प्रतिमाह तक कमाए हैं. यह मालवेयर अब दुनिया के 20 देशों तक पहुंच चुका है. भारत में 13.5 लाख इससे सीधा प्रभवित हैं. वहीं चीन में 16 लाख लोग इसकी चपेट में हैं. खास बात यह है कि इस मालवेयर की चपेट में एंड्रॉयड के पुराने वर्जन ही आए हैं. लगभग 50 प्रतिशत डिवाइस एंड्रॉयड किटकैट, वहीं अन्य 40% डिवाइस जेलीबीन पर चल रही हैं.

गूगल ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए साफ किया है कि कंपनी लगातार ऐसे मालवेयर बचने के उपाय बना रही है. उन्हें इस नये प्रकार के मालवेयर के बारे में जानकारी भी है. और इसी लिए नए वर्जन में ऐसे सिस्टम भी लगाए हैं जो ऐसे खतरे को पहचान कर उन्हें रोकते हैं.
Photo: © iStock.
आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.