विरोध के आगे बेहाल सरकार, एन्क्रिप्शन पॉलिसी लेगी वापस

RanuP मंगलवार 22 सितम्बर, 2015 को पूर्वाह्न 113103 बजे

विरोध के आगे बेहाल सरकार, एन्क्रिप्शन पॉलिसी लेगी वापस

व्हाट्सऐप, पेमेंट गेटवे का डाटा नहीं करना होगा 90 दिनों तक सुरक्षित.

सोशल मीडिया पर मचे भारी बवाल के बाद सरकार ने इनक्रिप्शन पॉलिसी ड्राफ्ट वापस लेने का फैसला किया है. टेलीकॉम मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मंगलवार को एक प्रेस कांफ्रेस करके यह सूचना मीडिया को दी और यह साफ किया कि अब व्हाट्सऐप संदेशों को 90 दिनों तक संभाल कर रखने की आवश्यकता नहीं होगी.

सरकार ने साफ किया कि एन्क्रिप्शन पॉलिसी सोशल मीडिया की साइटों फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सऐप ऑनलाइन एवं लेन-देन पर लागू नहीं थी. इससे पहले मंगलवार सुबह सरकार ने यह साफ किया था यह पॉलिसी सोशल मीडिया की साइटें एवं ऑनलाइन पेमेंट पर लागू नहीं होगी. पर भारी बवाल के बाद सरकार ने पूरे ड्राफ्ट को वापस लेने का फैसला किया है.

सरकार ने सोमवार को नेशनल एन्क्रिप्शन पॉलिसी पर एक ड्राफ्ट तैयार किया था जिस पर आम जनता, संस्थान आदि की राय भी मांगी गई थी. ड्राफ्ट में यह साफ-साफ लिखा गया था कि एन्क्रिप्शन तकनीक पर चलने वाले सभी चीजों की जानकारी कम से कम 90 दिनों तक सुरक्षित रखना जरूरी हो जाएगा. आपको बता दें कि व्हाट्सऐप का एंड्रोइड वर्जन इसी तकनीक पर चलता है.

ड्राफ्ट के मीडिया के सामने आते ही सोशल साइटों पर हंगामा मच गया. इसके बाद सरकार ने यह स्पष्ट किया कि कई सारी चीजों पर इस ड्राफ्ट की पॉलिसी लागू नहीं होंगी.

इस नए ड्राफ्ट के अनुसार आम जनता को एन्क्रिप्शन तकनीक की जानकारी दी जानी थी जिससे जरूरी मसौदों को दिए गए समय तक सुरक्षित रखा जा सकता था. यही नहीं, इस ड्राफ्ट में एन्क्रिप्शन फॉर्मेट, साइज एवं तकनीक तक स्पष्ट की गई थी. यानी किसी विशेष प्रोडक्ट का एन्क्रिप्शन एक विशेष एवं विशिष्ट तरीके से किया जाता जिसकी गाईडलाइन भी सरकार ही तय करने वाली थी. सरकार द्वारा मांगे जाने पर कोई व्यक्ति विशिष्ट फॉर्मेट में एन्क्रिप्शन को प्रस्तुत नहीं करता तो सरकार उस व्यक्ति को सजा भी दे सकती थी.

यह ड्राफ्ट सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स एवं इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी विभाग के एक विशेष पैनल ने बनाया था. इस पर 16 अक्टूबर तक akrishnan@deity.gov.in पर मेल करके अपनी राय दी जा सकती थी.

Photo: © व्हाट्सऐप.(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)