फ्लिपकार्ट की नई पहल: नो कॉस्ट ईएमआई

RanuP बुधवार 1 जून, 2016 को अपराह्न 083148 बजे

फ्लिपकार्ट की नई पहल: नो कॉस्ट ईएमआई

ऑनलाइन रिटेलर फ्लिपकार्ट मासिक किस्तों की सुविधा वाला एक नया फीचर लेकर आया है. इसका नाम है, नो कॉस्ट ईएमआई.

(CCM) — मध्यम वर्ग को टार्गेट करते हुए ई-टेलर फ्लिपकॉर्ट का यह फीचर एयर कंडीनशनर्स, रेफ्रिजरेटर्स, एलईडी टीवी जैसी बड़ी बड़ी खराददारी को ईएमआई (मासिक किस्त के बराबर) पर बिना कोई अतिरिक्त खर्च किए हुए अधिक सुविधाजनक बनाएगा.

यदि आप 'नो कॉस्ट ईएमआई' फीचर की मदद लेते हैं तो आपको किसी तरह की प्रोसेसिंग फीस और ब्याज नहीं देनी होगी. यही नहीं, खरीददार को किसी भी तरह का पेमेंट करने की जरूरत नहीं है. नो कॉस्ट ईएमआई विकल्प के साथ फ्लिपकार्ट ने उन भारतीय मध्यम-वर्ग के उपभोक्ताओं पर निशाना साधा है जो घर से जुड़ी महंगी वस्तुएं खरीदने की इच्छा रखते हैं लेकिन 8 फीसदी से 16 फीसदी की ब्याज दर के कारण खरीदने की हिम्मत नहीं कर पाते.

ग्राहकों के लिए इस ऑफर को बेहतर तरीके से डिजाइन करने फ्लिपकार्ट ने निजी क्षेत्र में वित्तीय सुविधा देने वाली कंपनी बजाज फिंनसर्व के साथ मिलकर काम कर रहा है. कंपनी ने पहले चरण में अपने मोबाइल ऐप यूजर्स के लिए यह योजना शुरू की है. जहां तक डेस्कटॉप यूजर्स की बात है तो कंपनी ने एक बयान में कहा है कि उनके लिए कंपनी कुछ ही दिनों में यह फीचर शुरू करेगी. बिना ब्याज वाली ईएमआई सर्विस कुछ खास चुने हुए उत्पादों और कंपनियों के लिए उपलब्ध है. इसमें 3 से 12 महीने की अवधि वाला ऋण उपलब्ध होगा.

फ्लिपकार्ट की ग्राहक वित्तीय सेवा और डिजिटल प्रोडक्ट प्रमुख मयंक जैन ने एक बयान में कहा है, "एक फीसदी से भी कम भारतीयों के पास क्रेडिट कार्ड है. हमारा पारंपरिक बैंकिंग उद्यम छोटे निजी ऋण लेने वालों की जरूरतों और समस्याओं पर ध्यान देने में सुस्त है."

उन्होंने कहा, "लोग ऑनलाइन खरीददारी कर सके, इसे संभव बनाने की ओर यह पहला कदम है. ब्रांडों ने हमारे साथ सहयोग करने में काफी उत्साह दिखाया है. जैसा कि कुछ साल पहले कैश ऑन डिलीवरी के साथ हमारा अनुभव रहा, इसमें भी ऑनलाइन शॉपिंग को अस्त-व्यस्त करने की पूरी क्षमता है."

Photo: © Flipkart.
आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.