पठानकोट हमलों में प्रयोग किए गए जासूसी ऐप को गूगल ने किया बैन

RanuP बुधवार 16 मार्च, 2016 को पूर्वाह्न 121040 बजे

पठानकोट हमलों में प्रयोग किए गए जासूसी ऐप को गूगल ने किया बैन

पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी द्वारा भारत की जासूसी के लिए प्रयोग होने वाली ऐप SmeshApp को गूगल ने प्लेस्टोर से हटा दिया है.

एक टीवी चैनल की रिपोर्ट के अनुसार आतंकियों ने हाल ही में हुए पठानकोट एयरबेस अटैक को अंजाम देने के लिए इसी ऐप का प्रयोग किया था. इसकी सहायता से सेना की टुकड़ी की मूवमेंट, आर्मी की स्थिति और अन्य खुफियां जानकारी बहार निकाली जा रही थी.

असलियत में यह ऐप एक जर्मन सर्वर द्वारा जुड़ी है. स्मैशऐप आपके कंप्यूटर या फोन की सारी जानकारी को फोन से निकाल कर पाकिस्तान में बैठे आतंकियों तक पहुंचा देता है. खबरों के अनुसार इस ऐप की ही सहायता से पाकिस्तानी एजेंसी ने भारत में कई सैनिकों को फंसाने का काम भी किया है.

इसी के मद्देनजर गूगल ने अपने आधिकारिक मार्केट प्लेस प्लेस्टोर से स्पाय वेल को डिलीट कर दिया है.

पाकिस्तानी की एजेंसी, फेसबुक पर भी लगभग 10 फेक अकाउंट पर काम कर रही है ताकि वो भारतीय सैनकों को हनीट्रैप कर सकें.

Photo: © गूगल प्लेस्टोर(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)