माइक्रोमैक्स यू यूटोपिया फर्स्ट लुक: रिव्यू मे जानिए कैसा है फोन

RanuP शनिवार 19 दिसम्बर, 2015 को पूर्वाह्न 014852 बजे

माइक्रोमैक्स यू यूटोपिया फर्स्ट लुक: रिव्यू मे जानिए कैसा है फोन

भारत में 25,000 रुपए की कीमत वाले यूटोपिया से माइक्रोमैक्स के यू टेलीवेंचर ने हाई-एंड मार्केट में कदम रख दिया है.

यह फोन अब अमेजन इंडिया की साइट पर प्री-ऑर्डर के लिए उपलब्ध है. इसकी शिपिंग क्रिसमस के दिन से शुरू हो जाएगी. अगर इसके बजट के हिसाब से बात करें तो इसका मुख्य प्रतिद्वंद्वी वनप्लस टू है. अगर आपको इन दोनों फोन के बीच कन्फ्यूज है तो पढ़िए हमारा फर्स्ट एडिशन रिव्यू:

डिजाइन:

हमेशा की ही तरह हम शुरुआत करेंगे फोन की डिजाइन से. फोन आकर्षक है पर यू के बाकी फोनों से काफी हद तक मेल खाता है. फोन की मोटाई 7.2 मिलीमीटर है. यह डिवाइस पकड़ने में सहज और हैंडी है पर अगर बैक पैनल की बात करें तो यह अपनी कीमत को साकार करता है. पीछे का पैनल हटाया नही जा सकता है. यानी बैटरी को आप एक्सेस नही कर सकते हैं.

पीछे के कैमरे के नीचे है फिंगरप्रिंट सेंसर. दाहिनी तरफ वॉल्यूम एवं पॉवर वाले बटन है. वहीं दूसरी तरफ दो सिम कार्ड की जगह है. पहली जगह माइक्रो सिम कार्ड की है एवं दूसरी हाइब्रिड नैनो सिम कार्ड की.

डिस्प्ले एवं स्क्रीन:

इसमें 5.2 इंच की OGS स्क्रीन लगाई गई है जो QHD 1440x2560 का डिस्पले रेजोल्यूशन देगा. स्क्रीन में 565ppi की डेंसिटी मिलेगी. मतलब ये कि स्क्रीन बहुत ही शानदार एवं क्लियर होगी. रंग शार्प है जो एचडी का रियल मजा देंगे. खास बात ये है कि शब्दों को फुल-जूम करने के बाद भी वो धुंधले नहीं दिखेंगे.

प्रोसेसर रैम एवं मेमोरी:

इसमें क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 810 SoC चिपसेट लगाया गया है जिसमें चार 2GHz कोर्टेक्स-A57 कोर को चार 1.5GHz कोर्टेक्स-A53 एवं एड्रेनो 430 GPU के साथ जोड़ा गया है. फोन में 4GB की LPDDR4 रैम लगी है. यानी गेमिंग से लेकर ग्राफिक्स एवं भारी से भारी ऐप. यह फोन सभी चीज़ों को झेलने के लिए बना है. ऐसी आशा है कि फोन एक साथ 25-30 ऐप को भी संभाल लेगा. फोन में 32GB का इनबिल्ट स्पेस है जिसमे यूजर 25GB का प्रयोग कर सकते हैं. इसके अलावा इसकी मेमोरी को 128GB तक बढ़ाया जा सकता है.

कैमरा एवं सेंसर:

फोन में 21-मेगापिक्सल का भव्य कैमरा है जिसमें सोनी का एक्स्मोर RS IMX230 सेंसर लगाया गया है. इसमें ट्रू-टोन डुअल एलईडी फ्लैश, 5P लेंस एवं ऑप्टिकल इमेज स्टेबिलाइजेशन भी लगाया गया है. पर इन सबके बावजूद इस फोन से कम रोशनी में ली गई तस्वीर की इमेज क्वालिटी उतनी अच्छी नहीं रही. ऐसा लगा जैसे फोन ने आईएसओ का बढ़ा दिया जिससे तस्वीर दानेदार हो गई एवं जूम करने में धुंधली हो गई.

सामने का कैमरा 8-मेगापिक्सल है जिसमें f/2.2 अपरचर का वाइड-एंगल लेंस है. इससे खींची गई आम तस्वीरें ठीक थी पर कम रोशनी में ली गई तस्वीरें उतनी प्रभावशाली नहीं रही.

इस प्राइस रेंज के बाकी फोन के कैमरे का फोटो आपका दिल जीत लेती है. पर यूटोपिया ने हमें कैमरे के सेक्शन में काफी निराश किया है.

ऑपरेटिंग सिस्टम:

इसमें सायनोजेन 12.1 आधारित एंड्रॉएड 5.1.1 दिया गया है. इससे यूजर को एंड्रोइड एवं सायनोजेन के इंटरफेस के बीच स्विच करने का मौका मिलेगा. सायनोजेन अभी अपने CM OS 13 इंटरफेस की टेस्टिंग कर रहा है जो भविष्य में इस फोन के यूजर को भी उपलब्ध कराया जाएगा.

बैटरी:

फोन में शक्तिशाली 3000mAh की बैटरी लगाई गई है. कम समय की वजह से हम बैटरी को पूरी तरह से चेक नही कर सके. इसमें क्वालकॉम की क्विक चार्ज 2.0 तकनीक है जो फोन को 60 प्रतिशत तक मात्र 30 मिनट में चार्ज कर देगी. पर ऐसे ही दूसरी तकनीकें इससे लगभग 10,000 रुपये सस्ते मोटो G टर्बो एडिशन में भी दी गई है.

वर्डिक्ट:

फोन अच्छा है और यू के बाकी फोन से कई गुना बेहतर है. पर 25,000 रुपये जितनी बड़ी कीमत में भला कोई कम अच्छी तस्वीर और धीमे चलने वाला फिंगरप्रिंट स्कैनर क्यों प्रयोग करेगा! फोन एक अच्छी पहल है पर अपने प्रतिद्वंद्वियों के सामने अच्छी टक्कर प्रस्तुत नही कर पाएगा. खासतौर पर जब iPhone 5s इस से लगभग 5 हजार कम कीमत में उपलब्ध है.

फिलहाल किसी भी परिणाम पर पहुचने से पहले इस फोन की डिलीवरी का इंतजार करना चहिए क्योंकि उसी के बाद हम इस फोन का सपूर्ण रिव्यू आपके सामने रख पाएंगे.

Photo: © यू.
(फेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)