फ्री बेसिक्स के नाम पर फेसबुक का दूसरा 'धोखा'

RanuP शनिवार 19 दिसम्बर, 2015 को पूर्वाह्न 123006 बजे

फ्री बेसिक्स के नाम पर फेसबुक का दूसरा 'धोखा'

फेसबुक पर आरोप है की वह गलत तरीके से यूजर से अपने विवादास्पद फ्री बेसिक्स पर समर्थन ले रहा है.

पिछले कई दिनों से फेसबुक यूज कर रहें कई लोगों के अकाउंट में फ्री बेसिक्स से जुड़े नोटीफिकेशन आ रहें हैं. इसके अनुसार आपके कई मित्रों ने एक पिटीसन पर अपनी रजामंदी दिखाई है.

फेसबुक बहुत ही चालाकी से आपको भी उस पिटीसन पर हामी भरने के लिए प्रेरित कर रहा है. यह कोई आप पिटीसन नहीं है बल्कि आपके फ्री इंटरनेट यूज करने के अधिकार को छीन लेने की तैयारी है.

आप जैसे ही इस नोटीफिकेशन पर क्लिक करेंगे, या आपको दूसरे पेज पर ले जाएगा जहां पर पहले से ही एक मैसेज लिखा हुआ है. आप उस पेज पर जैसे ही सेंड का बटन क्लिक करेंगे, आपकी तरफ से टेलीफोन रेगुलेटरी अथोरिटी ऑफ इंडिया यानी ट्राई को एक संदेश भेज दिया जाएगा. इस मैसेज में आप भारत में इंटरनेट डॉट ऑआरजी को समर्थन एवं नेट न्यूट्रेलिटी के विपक्ष में एक संदेश ट्राई को भेज चुके होंगे.

क्या है फेसबुक का फ्री बेसिक्स

भारत में फेसबुक ने इंटरनेट डॉट ऑआरजी सबसे पहले रिलायंस कम्युनिकेशन के साथ लॉन्च किया था. विवाद के बाद रिलायंस को पीछे हटना पड़ा था. बाद में फेसबुक ने इस सर्विस का नाम बदलकर फ्री बेसिक्स रख दिया.

इसके तहत फेसबुक पूरे भारत में हर किसी को फ्री इंटरनेट देगा. इसके तहत हर यूजर को कुछ वेबसाइटों को कुछ साइटों का एक्सेस फ्री कर दिया जाएगा.

इंटरनेट डॉट ऑआरजी- विवाद का विषय

फ्री के साथ-साथ कुछ चीजे चौकाने वाली भी है. फ्री वेबसाइटों के अलावा प्रत्येक चीज के लिए आपको कीमत चुकानी होगी. यानी यूट्यूब से लेकर ट्विटर तक, जीमेल से लेकर गूगल सर्च तक-- हर चीज की कीमत. यही नहीं, हो सकता है की युट्यूब पर तेज इंटरनेट के लिए ज्यादा कीमत और कम कीमत के लिए कम कीमत.

असलियत में यह आजादी के मौलिक अधिकार का हनन है.

सरकार का रुख

सरकार ने यह साफ कर दिया है की वो ऐसा कोई काम नहीं करेगी जिसकी वजह से आम आदमी को कोई भी समस्या हो. इसी के तहत सरकार ने एक बार फिर से आम जनता को नेट न्यूट्रेलिटी पर अपना रुख रखने को कहा था. इसके तहत आप जनता ट्राई को यानी भारत की टेलिकॉम नियंत्रण प्राधिकरण को इस संबंध मे अपनी राय दे सकता है.

Photo: © फेसबुक. (फेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)