फेसबुक ने बदली अपनी 'रियल नेम' पॉलिसी

Swarnkanta - 17 दिसम्बर, 2015 - पूर्वाह्न 09:52 IST बजे

फेसबुक ने बदली अपनी 'रियल नेम' पॉलिसी

फेसबुक ने मंगलवार को ऐलान किया कि वह अपनी विवादित नीति 'रियल नेम' में कुछ बदलाव ला रहा है.

मौजूदा हफ्ते से सोशल नेटवर्क पर रियल नेम पॉलिसी में कुछ रियायत दी जाएगी. फेसबुक की रियल नेम पॉलिसी को धत्ता बताते हुए यूजर्स कई सालों से बड़ी संख्या में फेक नेम से प्रोफाइल बनाते आ रहे हैं. इसलिए कंपनी ने रियल नेम पॉलिसी में कुछ बदलाव किए हैं. कंपनी ने एक ब्लॉग पोस्ट में इस बात की जानकारी दी है.

फेसबुक के जस्टिन ओसोफस्की ने ब्लॉग पोस्ट में लिखा,"फेसबुक पर वैसे लोगों की अहमियत होती है जो उस नाम से पहचाने जाते हैं जिस नाम से उनके परिजन और दोस्त उन्हें जानते हैं. इससे आप जो भी कहते हैं उसे गंभीरता से लिया जाता है क्योंकि ये नाम अधिक जवाबदेह समझे जाते हैं. इससे दूसरा फायदा ये होता है कि आपको नाम पर किसी दूसरे को परेशान करना, या किसी आपराधिक गतिविधि में नाम का इस्तेमाल करना भी मुश्किल होता है."

जस्टिन कहते हैं, "हम रियल नेम पॉलिसी को पूरी प्रतिबद्धता के साथ ला रहे हैं, और इसमें कोई बदलाव नहीं आने वाला. हालांकि आप सबसे मिली प्रतिक्रिया के बाद हमने ये भी महसूस किया कि ये पॉलिसी सबके लिए काम करे ये भी जरूरी है."

फेसबुक की इस रियल नेम पॉलिसी के अंतर्गत यूजर को अकाउंट बनाते समय नाम और उम्र के अलावा कुछ और महत्वपूर्ण जानकारियां भी देनी होंगी. इससे इस बात की पुष्टि हो सकेगी कि यूजर ने अपने असली या रियल नाम से ही अकाउंट बनाया है.

फेसबुक ने दो लक्ष्य निर्धारित किए हैं जिसके जरिए उसे भरोसा है कि सोशल नेटवर्क पर मौजूद सबके लिए बेहतर तरीके से काम करेगी: अब किसी नाम को वेरीफाई करने के लिए सवाल पूछे जाने वाले लोगों की संख्या कम हो, जो उन्हें जानते हैं, जब जरूरी हो तो यूजर्स के लिए अपने नाम की पुष्टि करना आसान हो.

इन दो लक्ष्यों को हासिल करने में मदद मिले इसके लिए फेसबुक ने दो नए टूल्स जारी किए हैं. इसमें नेम रिपोर्टिंग प्रक्रिया का नया वर्जन शामिल है.

फेसबुक का कहना है, "इससे पहले, लोग किसी फेक नाम की रिपोर्ट बड़ी आसानी से करते थे, लेकिन अब उन्हें ऐसा करने के लिए कई और प्रक्रिया से गुजरना होगा. ये सारे स्टेप्स हमें रिपोर्ट के बारे में अतिरिक्त खास बातें बताएंगे."

कंपनी ने एक और नए तरीके से खास परिस्थितियों का जिक्र करते हुए अपने नाम को वेरीफाई करने का तरीका शुरू किया है.

Photo: © iStockphotos.
(फेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)