अब सैमसंग भी सेल्फ-ड्राइविंग कार में हाथ आजमाएगा

Swarnkanta शुक्रवार 11 दिसम्बर, 2015 को पूर्वाह्न 092715 बजे

अब सैमसंग भी सेल्फ-ड्राइविंग कार में हाथ आजमाएगा

गूगल और ऐप्पल के बाद अब सैमसंग भी सेल्फ ड्राइविंग कार बनाने में दिलचस्पी लेना शुरू कर रहा है.

सैमसंग ने एक ऐसी टीम तैयार करने का ऐलान किया है जो नेक्स्ट जेनरेशन और सेल्फ ड्राइविंग कार तैयार करने वाली तकनीक पर फोकस करेगी.

इस साल के शुरू में सोशल मीडिया पर टेस्ला मोटर्स की ओर से किए गए ऑटोपायलट फीचर के ऐलान की खूब चर्चा हुई थी. इस फीचर की मदद से कार बिना ड्राइवर के चलती और पार्क होती है. वो तो अब तक संभव नहीं हुआ. लेकिन अब सैमसंग ने फैसला किया है कि वह इस संभावनाशील उद्योग क्षेत्र में हाथ आजमाएगा.

दो दिन पहले किए गए एक ऐलान में सैमसंग ने बताया है कि उसने एक ऐसी टीम बनाई है जो ऑटोमोबाइल उपकरणों को विकसित करने पर ध्यान देगी. साथ ही साथ ये टीम स्वचालित कार जैसे प्रोडक्टस बनाने वाली तकनीक पर भी फोकस करेगी.

कुछ लोग मानते हैं कि अपने स्मार्टफोन की ढीली पड़ती बिक्री से निपटने के लिए सैमसंग का ये एक अच्छा कदम है. कई तकनीकी विश्लेषक सैमसंग के तकनीकी निवेश में इस कोशिश को लेकर बेहद आशावादी है.

सैमसंग के साथ ही साथ कई दूसरे तकनीकी दिग्गज हैं जो कार उद्योग में दिलचस्पी ले रहे हैं. इससे पहले ऐप्पल और गूगल दोनों स्वचालित कार बनाने वाली ऑटो समन्वय तकनीक के साथ प्रयोग कर रहे हैं. गूगल का अपनी सेल्फ-ड्राइविंग कार पर प्रयोग जारी है. जबकि ऐप्पल ड्राइवंग अनुभव बेहतर करने के लिए अपने आईफोन को हाइपर-इनटीग्रेट करने की कोशिश कर रही है.

इस क्षेत्र में एक और चीनी टेक कंपनी बाईदू सबका अपनी ओर ध्यान खींच रहा है. इसने भी सेल्फ -ड्राइविंग कार तकनीक को सार्वजनिक परिवहन व्यवसाय में उतारने की कोशिश कर रही है.

जहां तक सैमसंग का सवाल है तो ऐसा लग रहा है कि वह दूसरी कंपनियों के लिए ऑटोमोबाइल्स गाड़ियों के लिए तकनीक और उनके पार्ट्स बनाने में ज्यादा दिलचस्पी ले रही है बजाय खुद अपनी कंपनी की बनाई कार के. भले वो अपनी गाड़ी न बनाए पर बैटरी, टचस्क्रीन आदि इसके मौजूदा तकनीकी विशेषज्ञता सैमसंग के लिए एक बेहद अच्छी पारी की शुरुआत करने वाली है जो उसे नेक्स्ट जेनरेशन व्हीकल फ्यूचर में ले जाएगा.
Photo: © iStockphotos.
(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)