बिटक्वाइन की कीमत दस लाख के पार पहुंची

Swarnkanta - 8 दिसम्बर, 2017 - पूर्वाह्न 07:43 IST बजे

बिटक्वाइन की कीमत दस लाख के पार पहुंची

डिजिटल करेंसी बिटक्वाइन की कीमत 16 हजार डॉलर यानि करीब साढ़े दस लाख रुपये हो गई है.

(CCM) — 2009 में लॉन्च होने के बाद से वर्चुअल करेंसी बिटक्वाइन के दाम में भारी उतार-चढ़ाव आता रहा है. ठीक एक साल पहले बिटक्वाइन का भाव 753 डॉलर था. यानी एक साल में ही इसमें लगभग 2100 फीसदी का उछाल आया है. बिटक्वाइन वर्चुअल करेंसी है.



तेजी से लोकप्रिय हो रही डिजिटल करेंसी बिटक्वाइन की कीमत बुधवार को अमेरिका में जहां 12000 डॉलर थी, तो गुरुवार को यानि एक दिन के अंदर इसकी कीमत 14,000 डॉलर पहुंच गई. निवेशकों को एक दिन में ही इस करेंसी से 1,29,084 रुपये की कमाई हो गई है.

2013 में बिटक्वाइन का 1 फीसदी हिस्सा खरीदाने वाले विंकेलवोस भाई आज अरबपति बन गए हैं. टेलर और कैमरून विंकेलवोस ने 2013 में 90 हजार बिटक्वाइन खरीदे थे. उस वक्त एक बिटक्वाइन की कीमत करीब 120 डॉलर होती थी. ये कीमत आज बढ़कर लगभग 16 हजार डॉलर यानि करीब साढ़े दस लाख रुपये हो गई है.

2009 में सतोशी नाकामोतो नामक समूह ने पहली बार बिटक्वाइन को दुनिया के सामने पेश किया था. इस डिजिटल करेंसी को लेकर भारतीय रिजर्व बैंक ने हाल ही आगाह किया था. कहा था कि भारतीय निवेशक इस करेंसी में सोच समझकर ही निवेश करें. यह जोखिम से भरी हुई है.

7 साल पहले जब बिटक्‍वॉइन लॉन्‍च हुआ था, जब यह 15 पैसे का था. मौजूदा समय में यह 10 लाख रुपए के भाव से ट्रेड हो रहा है. मतलब अगर 7 साल पहले किसी ने बिटक्‍वॉइन में 15 रुपए का भी निवेश किया होता तो आज वह 10 करोड़ रुपए का मालिक होता. भारत में भी जिन लोगों ने बिटक्वॉइन में निवेश किया था, उन्हें जमकर मुनाफा हुआ है.

वर्चुअल करेंसी होने के कारण बिटक्वाइन पर किसी देश की सरकार का नियंत्रण नहीं है. इस मुद्रा को किसी बैंक ने जारी नहीं किया है. चूंकि ये किसी देश की मुद्रा नहीं है इसलिए इस पर कोई टैक्स नहीं लगता है. बिटक्वाइन पूरी तरह गुप्त करेंसी है. इसे दुनिया में कहीं भी सीधा खरीदा या बेचा जा सकता है.

प्रत्येक बिटक्वाइन कंप्यूटर में एक फाइल होती है जिसे स्मार्टफ़ोन या कंप्यूटर के डिज़िटल वॉलेट में रखा जाता है. प्रत्येक लेन-देन को आम सूची में दर्ज किया जाता है और इसे ब्लॉकचेन कहा जाता है. चूंकि ये करेंसी सिर्फ कोड में होती है इसलिए न इसे जब्त किया जा सकता है और न ही नष्ट किया जा सकता है.

Photo: © Julia Tsokur - Shutterstock.com