Mi स्टोर समेत 42 ऐप के खिलाफ सरकारी अलर्ट

Swarnkanta - 1 दिसम्बर, 2017 - अपराह्न 02:32 IST बजे

Mi स्टोर समेत 42 ऐप के खिलाफ सरकारी अलर्ट

भारत सरकार ने सुरक्षा बल को अपने मोबाइल से शाओमी Mi स्टोर सहित 42 चीनी ऐप तुरंत हटाने के आदेश जारी किए हैं.

(CCM) — रक्षा मंत्रालय ने देश की सुरक्षा बलों को नया आदेश जारी किया है. आदेश में कहा गया है कि सभी अधिकारी और सुरक्षा सैनिक अपने स्मार्टफोन से शाओमी Mi स्टोर, Mi कम्युनिटी सहित 42 चीनी ऐप को तुरंत हटा दें.



रक्षा मंत्रालय ने इन सारे ऐप्स को स्पाईवेयर के रूप में रेखांकित किया है. 42 चीनी ऐप की लिस्ट में शाओमी स्मार्टफोन के Mi स्टोर, चीन का ही लोकप्रिय मैसेजिंग ऐप वीचैट, भारत में बहुत अधिक पसंद किया जाने वाला फाइल ट्रांसफर ऐप शेयरइट भी शामिल है.

जिन ऐप पर पाबंदी लगाई गई गई है उसमें स्वीडिन का ट्रूकॉलर भी है. हालांकि कंपनी ने बयान जारी करते हुए कहा है कि ये कोई मालवेयर नहीं है और वे इस बात की जांच करेंगे कि ट्रूकॉलर को क्यों इस लिस्ट में रखा गया है.

लोकप्रिय अंग्रेजी दैनिक इंडियनएक्सप्रेस डॉट कॉम में छपे आदेश में कहा गया है, “विश्वसनीय सूत्रों के मुताबिक चीनी डेवेलपर्स की ओर से तैयार किए गए कई एंड्रॉयड और iOS ऐप में स्पाईवेयर या खतरनाक वायरस होने की खबर मिली है. सुरक्षा अधिकारी और कर्मी यदि इन ऐप का प्रयोग करते हैं तो ये देश की सुरक्षा के लिए खतरनाक साबित हो सकता है. देश और फौज की सुरक्षा से जुड़े डाटा के चुराए जाने का भी खतरा है.”

आदेश में आगे कहा गया है, “वो इसीलिए सभी अधिकारियों और सुरक्षाकर्मियों से गुजारिश है कि वे दफ्तर या निजी मोबाइल फोन में इन ऐप का प्रयोग ना करें. यदि आप में से कोई इन ऐप का इस्तेमाल पहले से कर रहे हैं तो उसे तुरंत अनइंस्टॉल कर दें. और फोन को तुरंत फॉरमेट करें.”

42 ऐप में वीचैट, वीबो, शेयरईट, ट्रूकॉलर, यूसी न्यूज, यूसी ब्राउजर जैसे नाम शामिल हैं. इस लिस्ट में Mi स्टोर, Mi कम्युनिटी, Mi कॉल भी है. यूसी ब्राउजर भारत के कुछ बेहद चर्चित और लोकप्रिय ब्राउजरों में से है.

ऐसी भी आशंका जताई जा रही है कि इन ऐप्स की मदद से पाकिस्तान जासूसी कर रहा है. इससे साइबर फ्रॉड का भी खतरा है. ये सभी ऐप्स अलग-अलग लोगों ने डेवलप किए हैं.

Photo: © bluebay - Shutterstock.com