भीम ऐप ने अक्टूबर में रचा इतिहास

Swarnkanta - 2 नवम्बर, 2017 - अपराह्न 04:58 IST बजे

भीम ऐप ने अक्टूबर में रचा इतिहास

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए भीम ऐप ने अक्टूबर 2017 में 100 फीसदी विकास का रिकॉर्ड दर्ज किया है.

(CCM) — डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने वाला ऐप भीम हर दिन नए आयाम छू रहा है. भीम ने सितंबर के मुकाबले अक्टूबर में 100 फीसदी विकास दर्ज किया है. देश की नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने इससे जुड़े आंकड़ें जारी किए हैं.



नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एपीसीआई) की ओर से जारी किए गए आंकड़े के मुताबिक भीम ऐप के जरिए 76.96 मिलियन यानि 7,057 करोड़ रुपए का जबकि सितंबर में 30.98 मिलियन यानी 5,325 रुपए का ट्रांजैक्शन किया है.

यूपीआई के इस विकास से उत्साहित होकर एनसीपीआई ने ट्वीट किया, "भीम UPI बहुत तेजी से विकास कर रहा है. आइए और इस डिजिटल रेवोल्यूशन का हिस्सा बनिए."

नरेंद्र मोदी ने डिजिटल इकॉनमी की ओर कदम बढ़ाने के लिए भीम ऐप को 31 दिसंबर 2016 को लॉन्च किया था. भीम ऐप को नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने विकसित किया है. भीम यूनीफाइड पेमेंट इंटरफेड (यूपीआई) पर काम करता है. यूपीआई आईएमपीएस इंफ्रास्ट्रक्चर की तर्ज पर बना है और इससे पेमेंट तुरंत किया जा सकता है. यूपीआई एक ऐसा मोबाइल ​एप्लिकेशन है जिसकी मदद से उपभोक्ता दूसरें बैंकों में आसानी से पैसों का लेन-देन कर सकते है. इसके लिए आपके पास अकाउंट डिटेल होना जरूरी नहीं है.

यही नहीं, IMPS यानि इमीडिएट पेमेंट सर्विस ने भी अक्टूबर में सितंबर के मुकाबले अच्छी वृद्धि दर्ज की. इसने सितंबर में 65,149 करोड़ रुपए के मुकाबले अक्टूबर में 75,041 करोड़ रुपए का ट्रांजैक्शन किया है

एनपीसीआई जनवरी 2010 में शुरू किया गया था. तब इसका मासिक ट्रांजैक्शन 50 मिलियन का था. इसने आश्चर्यजनक तरीके से आगे बढ़ते हुए जुलाई 2017 में इसका ट्रांजैक्शन 1 बिलियन यानि 100 करोड़ हो गया. इस 1 बिलियन ट्रांजैक्शन में एनपीसीआई की ओर से किए जाने वाले हर तरह के पेमेंटे जैसे कि आईएमपीएस, यूपीआई, भीम, RuPay, POS से चेक क्लियरिंग, एटीएम क्लिरिंग, ईकॉमर्स और आधार पर निर्भर पेमेंट भी शामिल हैं.

Photo: © girafchik - Shutterstock.com