5 अरब डिवाइसों पर ब्लूटूथ मालवेयर का खतरा!

Swarnkanta - 20 सितम्बर, 2017 - अपराह्न 07:07 IST बजे

5 अरब डिवाइसों पर ब्लूटूथ मालवेयर का खतरा!

एक नए खतरनाक मालवेयर का पता चला है. यह ब्लूटूथ से जुड़े डिवाइस पर हमला कर सकता है. पर इससे बचा जा सकता है.

(CCM) — सिक्योरिटी कंपनी अर्मिस ने ब्लूटूथ वाले डिवाइसों पर हमला करने वाले मालवेयर का पता लगाया है. इसका नाम ब्लूबॉर्न है. यह फोन ही नहीं बल्कि स्मार्ट टीवी, टैबलेट, लैपटॉप, लाउडस्पीकर और कारों पर भी हमला कर सकता है.



यदि आपके मोबाइल फोन का ब्लूटूथ ऑन है तो ये ख़तरनाक साबित हो सकता है. इसके जरिए हैकर उस डिवाइस को अपने नियंत्रण में ले सकता है. इसके बाद इसके जरिए आपके मोबाइल का डाटा आसानी से चोरी किया जा सकता है. दुनिया में कुल मिलाकर 5.3 अरब डिवाइस हैं जो ब्लूटूथ का इस्तेमाल करते हैं. तो ये समझा जा सकता है कि ये मालवेयर कितना गंभीर हो सकता है.

ब्लूबॉर्न को यूजर की सहमति की जरूरत नहीं होती है और वो किसी लिंक पर क्लिक करने को भी नहीं कहता. सिर्फ दस सेकंड में वो किसी एक्टिव ब्लूटूथ डिवाइस को नियंत्रित कर सकता है.

आर्मिस ने एक ऐसा एप्लीकेशन बनाया है जो यह पता लगा सकता है कि आपका डिवाइस सुरक्षित है या नहीं. इस एप्लीकेशन का नाम है 'ब्लूबॉर्न वलनरब्लिटी स्कैनर'. ये ऐप गूगल के ऑनलाइन स्टोर पर उपलब्ध है.

कंपनी का कहना है, "हमलोगों को लगता है कि ब्लूटूथ डिवाइस से जुड़े कई और ऐसे मैलवेयर हो सकते हैं, जिनकी पहचान की जानी बाकी है." ब्लूटूथ का फायदा उठाकर हमला करने वाले कई तरह के मालवेयर हो सकते हैं. इनमें ब्लूबगिंग, ब्लूजैकिंग, ब्लूस्नार्फिंग शामिल है. ब्लूबॉर्न ब्लूबगिंग का एक प्रकार है.

ब्लूजैकिंग ब्लूटूथ से जुड़े कई डिवाइस को एक साथ स्पैम भेज सकता है. यह वीकार्ड (पर्सनल इलेक्ट्रॉनिक कार्ड) के जरिए मैसेज भेजता है, जो एक नोट या फिर कॉनटैक्ट नंबर के रूप में होता है. ब्लूस्नार्फिंग के जरिए निजी मैसेज और तस्वीर भी चुराए जा सकते हैं. लेकिन इसके लिए हैकर को यूजर से 10 मीटर के दायरे में होना ज़रूरी होता है.

ब्लूटूथ की मदद से हमला करने वाले मालवेयर से सुरक्षा के लिए जरूरी है कि हम कुछ सावधानी बरतें. सबसे पहले तो अपने ब्लूटूथ को हिडेन मोड में ही रखें. यदि इस्तेमाल नहीं करते तो इसे ऑफ कर दिया करें. मोड 2 ब्लूटूथ का इस्तेमाल करें, यह ज्यादा सुरक्षित होता है.

माइक्रोसॉफ्ट, गूगल और लिनक्स ने ब्लूबॉर्न से यूजर को बचाने के लिए पैच रिलीज की है. उसे इंस्टॉल कर लें. आधुनिक उपकरणों में ब्लूटूथ कनेक्टिविटी के लिए कंफर्मेशन कोड ज़रूरी होता है, इसका इस्तेमाल करें.

Photo: © iStock.