गूगल ने क्यों दिए 10वीं के छात्र को 6.5 लाख

Swarnkanta - 16 अगस्त, 2017 - अपराह्न 01:59 IST बजे

गूगल ने क्यों दिए 10वीं के छात्र को 6.5 लाख

दसवी में पढ़ने वाले छात्र को गूगल ने 6.5 लाख रुपए का ईनाम दिया है. उन्हें ये सम्मान गूगल के सुरक्षित नेटवर्क में कमी ढृंढ़ निकालने के लिए मिला है.

(CCM) — साइबर सेक्युरिटी और सुरक्षित नेटवर्क के लिए पहचाने वाले गूगल से सम्मान पाने वाले उरुग्वे के इजेक्वील पेरीरा ने इसके बारे में अपने ब्लॉग पोस्ट में जानकारी दी है. उन्हें गूगल ने 10,000 डॉलर यानी तकरीबन 6.5 लाख रुपए का ईनाम दिया है.

दरअसल एक दिन इजेक्वील पेरीरा बहुत बोरियत महसूस कर रहे थे. बैठे-बैठे उन्होंने गूगल के सेक्युरिटी सिस्टम में ऐसी कमी ढूंढ निकाली जिसका फायदा हैकर उठा सकते थे. इससे खुश होकर गूगल ने उन्हें सम्मानित किया है. पेरीरा ने अपने ब्लॉग पोस्ट में लिखा, " वो 11 जुलाई का दिन था. मैं ऊब रहा था. सोचा क्यों ना गूगल में कोई बग ढूंढ़ने की कोशिश की जाए."

पेरीरा ने बताया कि उन्होंने वेब सिक्यूरिटी टूल ब्रप सुईट की मदद से गूगल के बारे में जानकारियां हासिल करने की सोची. ऐसा करते हुए उन्होंने पाया कि गूगल के सेक्युरिटी सिस्टम में कमी है. उन्हें इस बात का अंदाजा नहीं था. इसके बाद पेरीरा गूगल ऐप की साइट याक्स डॉट गूगलप्लेक्स डॉट काम पर गए. वहां पड़ताल करने पर पाया कि यहां तो सुरक्षा के लिए किसी प्रकार का कोई भी उपाय है ही नहीं.

वो बताते हैं, "वेबसाइट का होमपेज मुझे ऐसे पन्ने पर ले गया जहां सब कुछ बहुत रोचक था. वहां गूगल सर्विस और इसके बुनियादी ढांचे के बारे में मौजूद अलग-अगल सेक्सशन से जुड़े ढेर सारे लिंक दिए गए थे. लेकिन इससे पहले कि मैं किसी सेक्शन में जाता, मुझे नीचे कुछ लिखा दिखाः गूगल कॉन्फिडेंशियल."

इसके बाद पेरीरा ने इसकी जानकारी गूगल को दी. उनके मुताबिक, उस समय उन्होंने वेबसाइट पर तुरंत पोकिंग बंद की और तुरंत इसके बारे में गूगल को बताने का फैसला किया.

गूगल के मुताबिक इस कमी से यह संकेत मिलता है कि गूगल के ऐसे कई दूसरे संवेदनशील डाटा तक हैकरों की पहुंच संभव थी. इसलिए कंपनी ने परेरा को सम्मानित करने का फैसला किया.

Image: © Castleski - Shutterstock.com