हार्ड ड्राइव को फॉरमेट कैसे करें

दिसम्बर 2016


आपके हार्ड ड्राइव को फॉरमेट करने के लिए सबसे पहले हार्डवेयर से जुड़ी समस्याओं को सुलझाना होगा। और ऐसा विंडो इंस्टॉलेशन सीडी के जरिए किया जा सकता है. यदि सेकेंडरी हार्ड डिस्क को फॉरमेट करना है, तो ये काम कंप्यूटर पर चल रहे ऑपरेटिंग सिस्टम के ऐडमिनिस्ट्रेटिव टूल्स की मदद से किया जा सकता है.

बाहरी हार्ड ड्राइव को फॉरमेट करना

आंतरिक या बाहरी यानी इंटरनल या एक्सटरनल हार्ड डिस्क नजरिया नहीं बदले, ये एक तथ्य है. नीचे जो तरीके बताए गए हैं वे इंटरनल से एक्सटरनल दोनों हार्ड ड्राइव पर समान रूप से लागू होते हैं.


तेज या सामान्य फॉरमेट?

इन सभी फॉरमैटिंग ऑपरेशंस के लिए, आप बारी बारी से हर बार "quick format" और "normal format" को चुन सकते है.

"quick format" का मतलब बस डिस्क को "table of contents" की जानकारी देना, जबकि "normal format" सभी डेटा को खाली डेटा से रिप्लेस करेगा ताकि इनिशियल डेटा का कोई सब्सिक्वेंट रिकवरी न हो.

यदि आपका ड्राइव नया है, या आप नहीं चाहते कि फॉरमेट होने वाले पार्टिसन पर मौजूद जानकारियों को कोई विशेष सॉफ्टवेयर रिकवर कर ले तो "Normal Format" को ही चुनें.

शुरू करें इससे पहले

तो ढेर सारा एहतियात बरतते हुए चलिए आपके हार्ड ड्राइव को उस तरीके से फॉरमेट किया जाए ताकि किसी तरह की समस्याएं न आए:


सबसे पहले तो उन सभी डेटा को खोज निकालिए जिन्हें सेव करना जरूरी है. जैसे कि: टेक्स्ट, ईमेजेज, फोटोज. ऑउटलुक ऐड्रेस बुक को भी सेव करना फायदेमंद होगी क्योंकि उस पर आपकी सभी संबंधित जानकारियां होती हैं: Address Book (wab फाइल) को सेव कीजिए.

अब एक्सटरनल मीडियो को तैयार करें जहां आपके सॉफ्टवेयर और ड्राइवर्स रीइंस्टॉल होंगे, खासकर फायरवॉल और जब आप रीइंस्टॉल किए गए ओएस के साथ एकदम नए तरीके से स्टार्ट करते हैं उसके BEFORE प्लगिंग इंटरनेट इंस्टॉल किए गए एंटीवायरस को रख सकें.

फॉरमैटिंग के पहले जो सेव नहीं किया गया है, वो हमेशा के लिए खो जाएगा.

ये भी सलाह दी जाती है कि किसी भी अप्रिय सरप्राइज से बचने के लिए रीइंस्टॉलेशन के लिए सभी सीडी को पहले से तैयार कर लें.

इन सबसे ऊपर, सेव करना ना भूलें!

एक नॉन-सिस्टम पार्टीशन की फॉरमैटिंग

ऐसे पार्टीशन को फॉरमेट करना जिसमें विंडोज नहीं है और जिसमें कोई विंडोज ओएस हो.


डेस्कटॉप पर (under a computer administrator account if you are using यदि आप विंडोज XP Pro की इस्तेमाल करते हैं तो कंप्यूटर ऐडमिनिस्ट्रेटर अकाउंट के तहत) Start> Programs पर जाएं, Administrative Tools को सलेक्ट करें, और खास कर Computer Management को चुनें.

सामने जो विंडो खुला है उसके बाएं हिस्से में, Storage> Disk Management को सलेक्ट करें. Down या up करते हुए फॉरमेट के लिए पार्टीशन को सलेक्ट करें और फिर राइट क्लिक करते हुए फॉरमेट करें.

अब पार्टीशन के प्रकार, वॉल्यूम नेम को चुनें.

यदि आपके डिस्क में कोई संवेदनशील डेटा न हो तो बेहतर है कि आप Quick Format के विकल्प को चुनें.

फॉरमैटिंग को रीइंस्टॉल करना

केवल Windows XP (या Windows 2000) को रीइंस्टॉल करना.

सही तरीके से संभाला जाए तो यहां आपको अपने हार्ड ड्राइव को सीधा Windows XP को रीइंस्टॉल करते हुए फॉरमैट करने की सुविधा मिलेगी. इससे समय की बचत होगी और फॉरमेट की भी ये समझते हुए कि Windows XP installation संभव है.

सबसे पहले ये देख लें कि आपके पास बूट होने योग्य Windows XP CD, या इंस्टॉलेशन डिस्क का सेट है या नहीं.

ये सुनिश्चित करने के बाद आप अब अपने कंप्यूटर को Windows XP CD, या इंस्टॉलेशन फ्लॉपीज के सेट से रीबूट कर सकते हैं.

F8 की दबाते हुए यदि आप चाहें तो लाइसेंस को स्वीकार कर लें. आखिर में उस ड्राइव को सलेक्ट करें जिसे फॉरमेट करना है. प्रोग्राम आपको बताएगा कि वह डिस्क पहले से इंस्टॉल है. (यदि ऐसा है तो). ऐसे में C की से इंस्टॉल करें.

अब फॉरमेट पार्टीशन के विकल्प को चुनें. Windows NT4 / 2000 / XP: NTFS, Windows 98: FAT32

Win XP के इंस्टॉलेशन और कंफरमेशन के बाद फॉरमैटिंग शुरू हो जाएगा.

DOS के तहत हार्ड ड्राइव (XP या कोई दूसरे) को फॉरमेट करना

हार्ड ड्राइव पार्टीशन, जिसमें ऑपरेटिंग सिस्टम होता है और जो बूट डिस्क का उपयोग नहीं करता, को फॉरमेट किया जा सकता है.


ऐसा करने के लिए सबसे पहले फ्लॉपी ड्राइव में बूट डिस्क को डालें और कंप्यूटर को रीस्टार्ट करें.

ऐसा करते वक्त, यह बूट डिस्क पर मौजूद Dos टूल को लोड करेगा और आपको निम्नलिखित कमांड टाइप करने की सुविधा देगा: Format C: (जिस भी पार्टीशन को फॉरमैट करना है उसके अनुसार D, या E).

यह भी पढ़ें :
CCM (in.ccm.net) पर उपलब्ध यह डॉक्युमेंट«  हार्ड ड्राइव को फॉरमेट कैसे करें  » क्रिएटिव कॉमन लाइसेंस के तहत उपलब्ध कराया गया है. जैसा कि इस नोट में साफ जाहिर है, आप इस पन्ने को लाइसेंस के तहत दी गई शर्तों के मुताबिक संशोधित और कॉपी कर सकते हैं.