डिस्क फ्री स्पेस और प्रयोग किए गए स्पेस में क्या अंतर है

सितम्बर 2017

आप अपने हार्ड डिस्क के फ्री स्पेस के वेरीफिकेशन के दौरान पाते हैं कि कंप्यूटर सिस्टम जितना स्पेस बता रहा है वह वास्तव में उपलब्ध स्पेस से काफी कम है. ऐसे मे कनफ्यूज होने की जरूरत नहीं है.


यूज्ड स्पेस और फ्री स्पेस मे अंतर

हार्ड डिस्क कई एलोकेशन यूनिट में बंटा होता है. इन्हें क्लस्टर कहते हैं जो हार्ड डिस्क पर किसी भी फाइल द्वारा घेरे गए न्यूनतम स्पेस को बताता है. इसके अलावा, कोई भी ऑपरेटिंग सिस्टम कई सेक्टर्स (1 और 16 यूजर्स के बीच) को कंपाइल करते हुए ब्लॉक का प्रयोग करता है. एक छोटी सी भी फाइल (कलस्टर) आपके हार्ड डिस्क पर काफी जगह घेरती है. क्लस्टर्स अच्छी खासी जगह घेर सकती है. वो कितनी जगह घेरेगी यह इस्तेमाल किए जा रहे फाइल सिस्टम पर और डिस्क के पूरे साइज पर निर्भर करता है.

ये जानते हुए कि कलस्टर एक सिंगल फाइल के रूप डाटा को स्टोर करता है, जब सिस्टम किसी फाइल को सेव करता है तो डाटा खाली क्लस्टर में सफलतापूर्वक लिखा जाता है. जब पहला क्लस्टर भर जाता है तो दूसरे क्लस्टर का प्रयोग होता है और इसी तरह ये सिलसिला आगे चलता रहता है.

अब यह साफ है कि क्लस्टर कुछ डाटा को सिंगल फाइल के रूप में रखता है. और जब सिस्टम इस फाइल को सेव करता है तो डाटा खाली क्लस्टर में कॉपी हो जाता है. फिर पहले की तर जब पहला क्लस्टर भर जाता है तो दूसरे क्लस्टर का प्रयोग होता है और इसी तरह ये सिलसिला बढ़़ता है.

इसे समझाने का सबसे अच्छा तरीका है: उदाहरण लें, यदि एक क्लस्टर 4 KB का है और उस पर 6 KB की फाइल सेव की जाती है. तो बचा हुआ 2 KB अगले क्लस्टर में सेव हो जाएगा.

साइज के संदर्भ में फाइल के कम जगह घेरने के बावजूद संभव है कि यह काफी बड़ा आकार ले ले. बेहतर ये होगा कि सभी फाइलो का आकार क्लस्टर साइज के बराबर हो ताकि साइज की समस्या ना आए. हमें यह भी नहीं भूलना चाहिए कि ऑपरेटिंग सिस्टम भी सभी फाइलों (FAT स्ट्रक्चर, स्ट्रक्चर MFT सिस्टम NTFS अल्टरनेट डाटा स्ट्रीम, इत्यादि) को संभालने के लिए डिस्क पर उपलब्ध स्पेस का इस्तेमाल करती है. वे डाटा आपके ऑपरेटिंग सिस्टम को संभालने के लिए बेहद महत्वपूर्ण होते हैं और और स्पेस घेरने वाले नहीं माने जाते.

नुकसान को कम कैसे करें

ये सलाह दी जाती है कि छोटी फाइलों की संख्या कम करें, यानी यदि आपके पास ऐसा फोल्डर हो जिसमें ऐसी छोटी फाइलें हैं जिनका हमेशा प्रयोग नहीं होता तो जिप्पर जगह को बचाएगा. NTFS बड़ी संख्या में छोटे फाइलों को संभालता है, विशेषतौर से उच्च क्षमता वाले हार्ड ड्राइव पर. तो ये ज्यादा समझदारी का काम होगा कि आप FAT की जगह NTFSका इस्तेमाल करें. NTFS फाइल कम्प्रेशन का प्रयोग फाइलों की ओर से घेरे गए स्पेस को कम करने के लिए किया जाता है. यह समझना अधिक प्रासंगिक होगा कि यदि इसका परफॉर्मेन्स कम होता है तो यह जगह भी कम ही घेरेगा. इसके अलावा यह भी सलाह दी जाती है कि मौजूदा फाइलों को कम्प्रेस कर दें. लेकिन सिस्टम फाइलों को कम्प्रेस करने से बचें.

Image: © hadescom - Shutterstock.com

यह भी पढ़ें

Swarnkanta ने पब्लिश किया. ताजा अपडेट: 4 सितम्बर, 2017 को पूर्वाह्न 11:48 बजे RanuP ने किया.
CCM (in.ccm.net) पर उपलब्ध यह डॉक्युमेंट "डिस्क फ्री स्पेस और प्रयोग किए गए स्पेस में क्या अंतर है" क्रिएटिव कॉमन लाइसेंस के तहत उपलब्ध कराया गया है. जैसा कि इस नोट में साफ जाहिर है, आप इस पन्ने को लाइसेंस के तहत दी गई शर्तों के मुताबिक संशोधित और कॉपी कर सकते हैं.