लाइव स्ट्रीमिंग वीडियो ब्रॉडकास्ट कैसे करें

दिसम्बर 2016

साल 2016 में सोशल नेटवर्क पर लाइव वीडियोज की धमाकेदार एंट्री और इसकी लोकप्रियता सबसे बड़ा ट्रेंड रहा. इस ट्रेंड के साथ चलने के लिए अब कई साइट्स और ऐप्लिकेशन सामने आ रहे हैं और अपने प्लेटफार्म पर लाइव स्ट्रीम की क्षमताओं का विकास कर रहे हैं. ऐसा करने के पीछ मकसद है कारोबारियों और व्यक्ति विशेष अपनी कम्युनिटी में लाइव वीडियो को स्ट्रीम कर सकें. वीडियो होस्टिंग साइट यूट्यूब ने हाल ही में नए लाइव स्ट्रीमिंग ऐप के लिए अपनी योजना का ऐलान किया है. इसके साथ ही वह फेसबुक लाइव, पेरिस्कोप, मीरकैट और स्नैपचैट का दर्जा हासिल कर लेगा जो अपने यूजरों को पहले से ये सेवा प्रदान कर रहे हैं.

लेकिन यह पेशवरों के लिए कितना दिलचस्प साबित होगा? सोशल मीडिया पर लाइव स्ट्रीम वीडियो का सबसे अच्छा तरीका क्या है? ऐसे कई सवाल हैं. इन सबका जवाब पाने के लिए सोशल मीडिया पर चल रहे वेबकास्ट ट्रेंड का एक संक्षिप्त परिचय यहां प्रस्तुत है.


सोशल मीडिया पर लाइव स्ट्रीमिंग

सोशल नेटवर्क पर वीडियो कंटेन्ट को लोग खूब पसंद कर रहे हैं. साल के शुरू में, फेसबुक संस्थापक मार्क जकरबर्ग ने घोषणा की थी कि सोशल नेटवर्क पर 10 करोड़ घंटे का वीडियो हर दिन देखा जाता है.

रियल-टाइम इनफॉर्मेशन और वीडियो की चाहत से लाइव इमेजेज की ब्रॉडकास्टिंग में सबकी दिलचस्पी बढ गई है. आमतौर से live streaming के नाम से पहचाना जाने वाला ये ईमेज शेयरिंग कुछ स्मार्टफोन ऐप्लिकेशंस जैसे कि Meerkat और ट्विटर पर Periscope के लिए, जो इन ब्रॉडकास्ट की ओर पूरी तरह समर्पित हैं, खासियत बन गया है. दूसरे ऐप्लिकेशंस जैसे कि Facebook और YouTube भी अपने प्लेटफार्म पर इन्हें इंटीग्रेट करने के तरीकों की खोज कर रहे हैं.

लाइव ब्रॉडकास्ट व्यवसायियों और व्यक्तिविशेष,दोनों के लिए संभावनाओं के नए दरवाजे खोलता है. कम्यूनिकेशन का यह अधिक प्रत्यक्ष रूप है जो खास ईवेंट से जुड़ी खबरों और जानकारियों के प्रसार की सुविधा प्रदान करता. यहां तक कि यह कॉन्टैक्ट्स या सब्सक्राइबर्स के लिए विशेष ईवेंट का त्वरित एक्सेस मुहैया कराता है.

कई फायदों के साथ साथ, लाइव ब्रॉडकास्ट में कुछ खामियां भी हैं. वीडियो का सीधा प्रसारण होने के कारण इसमें स्क्रीन कंटेन्ट को रिलीज करने से पहले उसे एडिट करने की सुविधा नही होती, दूसरे इसके वितरण पर कोई नियंत्रण नहीं है. ये दोनों कमियां किसी भी ब्रांड या शख्सियत (जैसे कि फुटबॉल खिलाड़ी सर्ज ऑरियर के मामले में हुआ था) के लिए बेहद हानिकारक साबित हो सकती है. इसके अलावा आत्मचेतना का सवाल भी उठता है, विशेष तौर से तब जब किसी विवादास्पद विषय का कवरेज हो रहा हो, जैसे कि कोई राजनीतिक या खास धर्म से जुड़ी बहस हो.

व्यवसायियों के लिए लाइव स्ट्रीमिंग के फायदे

लाइव ईमेज डिस्टीब्यूशन के ये नए टूल्स व्यवसायियों के लिए कई तरह से फायदेमंद होते हैं. वेबकास्टिंग से ग्राहकों को व्यवसायिक गतिविधियों में 'बिहाइंड द सीन्स' का अनुमान लगाने का मौका मिलता है. अधिक निजी रूप वाले इस कम्यूनिकेशंस की मदद से कंपनी अपने सब्सक्राईबर्स या प्रशंसकों को एक इंटरैक्टिव अनुभव ऑफर करते हुए अपनी साख बना सकती है.

इसके अलावा, बेहद आधुनिक तकनीक वाले वीडियो लाइव स्ट्रीमिंग डिजिटल रूप से सक्रिय लोगों, जो इन लाइव स्ट्रीम चैनलों पर बेहद सक्रिय हैं, के लिए काफी महत्वपूर्ण हैं. ब्रांडों के लिए खुद को "प्रगतिशील" बताने और अपनी विजिबलिटी बढ़ाने का बेहद शानदार जरिया है ब्रॉडकास्ट.

लाइव वीडियो की स्ट्रीमिंग के तरीके

लाइव स्ट्रीम ऐप्लिकेशंस की लिस्ट लंबी भी है और लगातार बदलने वाली भी. मौजूदा दौर के सबसे लोकप्रिय ब्रॉडकास्ट प्लेटफॉर्मों में शामिल हैं, Periscope, Meerkat, और Facebook Live Video. लेकिन कुछ दूसरे लाइव स्ट्रीम टूल्स जैसे कि Livestream और Ustream बेहद खास दर्शकों के लिए लाइव ब्रॉडकास्ट का अवसर प्रदान करते हैं. हम यहां कुछ ऐसे टूल्स की संक्षिप्त सूची दे रहे हैं जिनका प्रयोग आप वीडियो की लाइव स्ट्रीमिंग के लिए कर सकते हैं.

Periscope

मार्च 2015 में ट्विटर द्वारा अधिकृत किया गया Periscope एक लाइव स्ट्रीमिंग ऐप्लिकेशन है जो यूजर्स को अपनी लाइव वीडियो को उनके सबस्क्राइबरों तक ब्रॉडकास्ट करने, तथा साथ ही साथ लाइव वेबसकास्ट देखने का मौका देता है. ब्रॉडकास्टरों को पास स्ट्रीमिंग को सार्वजनिक रूप से स्ट्रीमिंग करने, या कुछ बेहद खास दर्शकों तक उनके स्ट्रीम्स को सीमित करने का विकल्प होता है. पेरिस्कोप वीडियो अपनी रिलीज के बाद 24 घंटे तक उपलब्ध रहता है.

अगस्त 2015 में, ट्विटर पर आने के बस चार महीनों के बाद, पेरिस्कोप ने ऐलान किया था कि इसके दुनिया भर में 1 करोड़ यूजर हैं. कैरियर के मुताबिक लगभग 40 साल के बराबर समय का वीडियो हर दिन देखा जाता है.

पेरिस्कोप ऐंड्रॉयड और iOS पर उपलब्ध है. इसका इस्तेमाल करने के लिए आपको ट्विटर अकाउंट की जरूरत पड़ेगी.

Meerkat

मार्च 2015 में शुरू किया गया Meerkat अपने यूजर्स को लाइव वीडियो ब्रॉडकास्ट की सुविधा देता है. यह ऐप्लिकेशंस मूल रूप से ट्विटर पर उपलब्ध था, पर यह फेसबुक अकाउंट से भी कनेक्ट किया जा सकता है.

पेरिस्कोप के आने के बाद मीरकैट ने अपने कई फीचर्स को ब्लॉक करने का फैसला किया, जिसके कारण इसके इस्तेमाल और दर्शकों को संख्या में कमी आई है.

Meerkat ऐंड्रॉयड और iOS पर उपलब्ध है.

Facebook Live

फेसबुक ने जनवरी 2016 से अपने यूजर्स के लिए 'लाइव' फीचर शुरू किया है, जिसकी मदद से लोग बस फेसबुक के इंटरफेस पर मौजूद एक आईकन पर क्लिक करते हुए अपने वीडियो की लाइव स्ट्रीम ब्रॉडकास्ट कर सकते हैं. फेसबुक लाइव की मदद से किए जाने वाले लाइव ब्रॉडकास्ट की समय सीमा 30 मिनट से अधिक नहीं होती है.


फेसबुक लाइव वीडियो की पहुंच दोस्तों, ग्राहकों या आम लोगों तक हो सकती है. ये यूजर प्रीफरेंस पर निर्भर करता है. कॉन्टैक्ट्स और सब्सक्राईबर्स को फेसबुक नोटिफिकेशन के जरिए लाइव स्ट्रीम की अधिसूचना मिलती है और ऑनलाइन काउंटर कई दर्शकों पर नजर बनाए रखते हैं.

फेसबुक लाइव शुरू शुरू में अमरीका में iPhone रखने वालों के लिए आरंभ किया गया था. उसके बाद सोशल नेटवर्क ने अपने ऐप्लिकेशन को एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम के अनुकूल बनाया. और अब यह लाइव स्ट्रीम को दुनिया भर में rolling out कर रहा है.

YouTube Live

दुनिया भर में अपने नेटवर्क पर लाइव ब्रॉडकास्ट की दुनिया में सबसे आगे YouTube Live 2011 से ही लाइव स्ट्रीम का काम कर रहा है. लाइव स्ट्रीम को YouTube Live के होम पेज पर देखा जा सकता है.

Image: © photoplotnikov - Shutterstock.com.

यह भी पढ़ें :
CCM (in.ccm.net) पर उपलब्ध यह डॉक्युमेंट«  लाइव स्ट्रीमिंग वीडियो ब्रॉडकास्ट कैसे करें  » क्रिएटिव कॉमन लाइसेंस के तहत उपलब्ध कराया गया है. जैसा कि इस नोट में साफ जाहिर है, आप इस पन्ने को लाइसेंस के तहत दी गई शर्तों के मुताबिक संशोधित और कॉपी कर सकते हैं.